1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. ईमेल के जरिए Wipro से मांगे 500 करोड़, दफ्तरों पर जहरीले पदार्थ राइसीन से हमले की दी धमकी

ईमेल के जरिए Wipro से मांगे 500 करोड़, दफ्तरों पर जहरीले पदार्थ राइसीन से हमले की दी धमकी

Wipro ने एक गुमनाम स्रोत से धमकीभरा ईमेल मिलने के बाद अपने सभी कार्यालय परिसरों की सुरक्षा बढ़ा दी है। कंपनी से 25 मई तक 500 करोड़ रुपए की मांग की गई है।

Manish Mishra | May 7, 2017 | 4:13 PM
ईमेल के जरिए Wipro से मांगे 500 करोड़, दफ्तरों पर जहरीले पदार्थ राइसीन से हमले की दी धमकी

बेंगलुरु। सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी Wipro ने एक गुमनाम स्रोत (Ramesh2@protonmail.com) से धमकीभरा ईमेल मिलने के बाद अपने सभी कार्यालय परिसरों की सुरक्षा बढ़ा दी है। इस ईमेल में कहा गया है कि 25 मई तक 500 करोड़ रुपए Wipro ईमेल में दिए तरीकों से अदा करे, नहीं तो ड्रोन के जरिए कंपनी की कैंटीन में राइसीन (Ricin) नाम का जहरीला पदार्थ दिया जाएगा।

क्‍या है राइसीन?

राइसीन (Ricin) एक अत्‍यंत जहरीला पदार्थ है। इसका इस्तेमाल दुनियाभर की खुफिया एजेंसियां अपने लक्ष्‍य को निपटाने के लिए करती हैं और अमेरिका और दूसरे विकसित देशों में राइसीन लगे लिफाफों का इस्तेमाल कर जाने-माने लोगों को दहशत मे डालने की कोशिश होती रही है।

यह भी पढ़ें : सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से 5 कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 32,959 करोड़ रुपए घटा, RIL को सबसे अधिक नुकसान

ईमेल भेजने वाले का दावा, उसके पास है 1 किलो राइसीन

Wipro को ईमेल भेजने वाले ने दावा किया है कि उसके पास एक किलो राइसीन है। वो अपने दावे को साबित करने के लिए वो 2 ग्राम जहरीला पदार्थ लिफाफे में रखकर विप्रो के दफ्तर में भेजेगा। इस ईमेल में यह धमकी भी दी गई है कि न सिर्फ कैंटीन बल्कि विप्रो के दफ्तरों के टॉयलेट की सीटों पर भी इस जहरीले पदार्थ को फैलाया जाएगा।

बढ़ाई गई कंपनी की सुरक्षा

Wipro ने कहा है कि उसने अपने सभी कार्यालय परिसरों की सुरक्षा बढ़ा दी है। कंपनी के अनुसार, परिचालन पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। हम इस पर आगे कोई टिप्पणी नहीं करेंगे क्योंकि इस मामले में जांच जारी है। हालांकि, कंपनी ने धमकी की प्रकृति के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है, लेकिन पुलिस ने स्पष्ट किया है कि कंपनी से एक ईमेल के माध्यम से बिटकॉइन के रूप में 500 करोड़ रुपए की डिजिटल मुद्रा की मांग की है।

यह भी पढ़ें : टाटा मोटर्स को कमर्शियल वेहिकल्स के निर्यात में 15 फीसदी बढ़ोतरी की उम्मीद, बीएस-III का मिलेगा फायदा

साथ ही ऐसा करने में विफल रहने पर एक जहरीले पदार्थ से उसके दफ्तरों पर हमला करने की भी धमकी दी है। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त एस. रवि ने कहा कि इस संबंध में एक शिकायत साइबर अपराध पुलिस थाने में दर्ज कराई गई है और जांच जारी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह ईमेल शुक्रवार को भेजा गया था, जिसमें भुगतान के लिए 20 दिन का समय दिया गया है।

Write a comment