1. Home
  2. My Profit
  3. Gadgets
  4. भारतीय टेलीकॉम कंपनियों की आय 2026 तक 4 लाख करोड़ रुपए पहुंचने का अनुमान, डाटा से होगी कमाई

भारतीय टेलीकॉम कंपनियों की आय 2026 तक 4 लाख करोड़ रुपए पहुंचने का अनुमान, डाटा से होगी कमाई

टेलीकॉम कंपनियों की परंपरागत सेवाओं से आय 2026 तक बढ़कर 63 अरब डॉलर (4 लाख करोड़ रुपए) पहुंच जाने का अनुमान है। वॉयस और डाटा से होगी कमाई।

Dharmender Chaudhary | Apr 30, 2017 | 6:30 PM
भारतीय टेलीकॉम कंपनियों की आय 2026 तक 4 लाख करोड़ रुपए पहुंचने का अनुमान, डाटा से होगी कमाई

नई दिल्ली। टेलीकॉम कंपनियों की परंपरागत सेवाओं से आय 2026 तक बढ़कर 63 अरब डॉलर (4 लाख करोड़ रुपए) पहुंच जाने का अनुमान है। स्वीडन की दूरसंचार उपकरण विनिर्माता एरिक्सन की रिपोर्ट में कहा गया कि अर्थव्यवस्था और आबादी में बढ़ोतरी के कारण कंपनियों की आय बढ़ सकती है। यह भी पढ़ें: Ola को 2015-16 में रोजाना 6 करोड़ रुपए का घाटा, एक रुपए कमाने के लिए खर्च किए 4 रुपए

दूरसंचार परिचालक अगर विविध पेशकश करते हैं तो नकी आय में और 20 प्रतिशत वृद्धि की उम्मीद है। रिपोर्ट के मुताबिक, दूरसंचार कंपनियों की परंपरागत सेवाओं (वॉयस एंड डाटा) से आय 37 अरब डॉलर (2.37 लाख करोड़ रुपए) से बढ़कर 63 अरब डॉलर हो जाने का अनुमान है। इसका कारण आबादी में वृद्धि, दूसंचार सेवाओं की पहुंच बढ़ना और जीडीपी की उच्च वृद्धि दर है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार दूरसंचार परिचालकों की समायोजित सकल आय (दूरसंचार सेवाओं से आय) 31 दिसंबर 2016 को अंत में 1,63,604.7 करोड़ रुपए थी।

देश में दूरसंचार उपभोक्ताओं (मोबाइल और लैंडलाइन) की संख्या फरवरी, 2017 के अंत तक 1.18 अरब पर पहुंच गई। उससे पिछले माह की तुलना में यह 1.17 प्रतिशत अधिक है। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। माह के दौरान मोबाइल फोन ग्राहकों की संख्या में 1.37 करोड़ से अधिक का इजाफा हुआ। कभी लैंडलाइन फोन काफी लोकप्रिय थे, लेकिन आज इनकी मांग में लगातार गिरावट आ रही है। यह भी पढ़ें: सहारा ने संपत्ति की बिक्री के लिए बोली समयसीमा बढ़ाकर की 20 मई, खरीददारों में टाटा, गोदरेज और अडाणी शामिल