1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. 5 स्‍टार होटल ताज मानसिंह की होगी ई-नीलामी, सुप्रीम कोर्ट ने NDMC को दी अनुमति

5 स्‍टार होटल ताज मानसिंह की होगी ई-नीलामी, सुप्रीम कोर्ट ने NDMC को दी अनुमति

नई दिल्ली के मानसिंह रोड पर बने ताज मानसिंह होटल की ई-नीलामी के लिए न्‍यू दिल्‍ली म्‍यूनिसिपल काउंसिल (NDMC) को सुप्रीम कोर्ट ने अनुमति दे दी है।

Manish Mishra | Apr 20, 2017 | 1:31 PM
5 स्‍टार होटल ताज मानसिंह की होगी ई-नीलामी, सुप्रीम कोर्ट ने NDMC को दी अनुमति

नई दिल्ली। नई दिल्ली के मानसिंह रोड पर बने ताज मानसिंह होटल की ई-नीलामी के लिए न्‍यू दिल्‍ली म्‍यूनिसिपल काउंसिल (NDMC) को सुप्रीम कोर्ट ने अनुमति दे दी है। 3 मार्च को NDMC ने सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि वह होटल की ई-नीलामी करना चाहती है। वर्तमान में इस होटल का परिचालन टाटा समूह की कंपनी इंडियन होटल्‍स कंपनी (IHCL) कर रही है।

जस्टिस पीसी घोस और जस्टिस आरएफ नरीमन की पीठ ने NDMC की उस याचिका को मंजूरी दे दी है, जिसमें कहा गया है कि टाटा ग्रुप की कंपनी को नीलामी से इनकार करने का अधिकार नहीं है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने NDMC को कहा है कि अगर नीलामी में टाटा ग्रुप को सफलता नहीं मिलती है तो होटल खाली करने के लिए उसे छह महीने का वक्‍त दिया जाए। यह भी पढ़ें : सावधान! आधार कार्ड की जानकारी एकत्र करने वाली ये 8 वेबसाइट हैं फर्जी, UIDAI ने दर्ज कराई FIR

कोर्ट ने कहा : नीलामी में IHCL की बेदाग छवि को ध्‍यान में रखा जाए

सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि ताज मानसिंह होटल की नीलामी करने के दौरान IHCL की बेदाग छवि को ध्‍यान में रखा जाए। होटल की नीलामी के लिए टाटा ग्रुप को पहले मौका दिया जाए। अगर वह लाइसेंस के लिए नीलामी में तय रकम नहीं दे पाए तो इसके बाद ही जो बड़ी बोली लगाए, उसे होटल लीज पर दे दिया जाए। यह भी पढ़ें :आपके साधारण TV को स्‍मार्ट बनाएगा अमेजन का फायर TV स्टिक, 3999 रुपए के इस डिवाइस के साथ 240GB मिलेगा

सुप्रीम कोर्ट ने टाटा ग्रुप की IHCL से कहा था अगर उन्हें कोई आपत्ति है तो वह एक हफ्ते में अपना जवाब दाखिल करें। इसी साल 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने NDMC को टाटा ग्रुप की लीज नहीं बढ़ाने के फैसले पर फिर से विचार करने को कहा था।

IHCL ने दिया था यह तर्क

IHCL ने सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि NDMC आखिर क्‍यों इस प्राइम प्रॉपर्टी की नीलामी करना चाहती है, जिससे इसे बेहतरीन कमाई हो रही है। IHCL ने NDMC एक्‍सपर्ट्स की एक रिपोर्ट भी कोर्ट में दाखिल की थी कि अगर इस होटल को दूसरी किसी कंपनी को दिया गया तो कमाई घट सकती है।

1976 में IHCL ने 33 साल के लीज पर लिया था होटल

दरअसल NDMC के स्वामित्व वाली इस संपत्ति को 1976 में IHCL को 33 साल के लीज पर दिया गया था और एग्रीमेंट के तहत 11 मंजिला होटल तैयार कर चलाया जा रहा था। यह लीज 2011 में समाप्त हो गई थी लेकिन इसके बाद विभिन्न आधार पर कंपनी को इसका 9 बार अस्थाई विस्तार दिया गया। इसमें से 3 विस्तार तो सिर्फ 2016 में दिए गए। NDMC ने इस साल जनवरी में कहा था कि वह होटल की नीलामी के लिए संपत्तियों का आकलन कर रही है। इस संपत्ति की नीलामी में पहले ही काफी देरी हो चुकी है।

Write a comment