1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. अप्रैल-मई में आठ विधानसभाओं में पारित हुआ राज्य जीएसटी विधेयक, बाकी राज्यों में इसी महीने लागू होने की उम्मीद

अप्रैल-मई में आठ विधानसभाओं में पारित हुआ राज्य जीएसटी विधेयक, बाकी राज्यों में इसी महीने लागू होने की उम्मीद

आठ राज्यों ने अप्रैल-मई के दौरान राज्य जीएसटी विधेयक को पारित किया है। नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था को देशभर में जुलाई से लागू करने की तैयारी है।

Dharmender Chaudhary | May 4, 2017 | 9:22 PM
अप्रैल-मई में आठ विधानसभाओं में पारित हुआ राज्य जीएसटी विधेयक, बाकी राज्यों में इसी महीने लागू होने की उम्मीद

नई दिल्ली। आठ राज्यों की विधानसभाओं ने अप्रैल-मई के दौरान राज्य वस्तु एवं सेवा कर (एसजीएसटी) विधेयक को पारित किया है। केंद्र सरकार इस नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था को देशभर में जुलाई से लागू करने की तैयारी कर रही है। यह भी पढ़ें: ट्रेन सफर 10 फीसदी तक होगा महंगा, किराया बढ़ाने के इन पांच तरीकों पर प्रभु कर रहे हैं विचार

वित्त मंत्रालय ने जारी बयान में कहा कि तेलंगाना ने एसजीएसटी विधेयक को 9 अप्रैल को पारित किया। बिहार में इस विधेयक को 24 अप्रैल को, राजस्थान में 26 अप्रैल को, झारखंड में 27 अप्रैल को, छत्तीसगढ़ में 28 अप्रैल को, उत्तराखंड में 2 मई को, मध्य प्रदेश में 3 मई को और हरियाणा में 4 मई को पारित किया गया। बयान में कहा गया है कि शेष राज्यों-संघ शासित प्रदेशों द्वारा इस विधेयक को चालू महीने के दौरान ही पारित किए जाने की उम्मीद है। वहीं जो राज्य बच जाएंगे, वे इसे अगले महीने पारित करेंगे।

वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाली जीएसटी परिषद ने 16 मार्च को अपनी 12वीं बैठक में आदर्श एसजीएसटी विधेयक को मंजूरी दी थी। जीएसटी परिषद की अगली बैठक श्रीनगर में 18-19 मई को हो रही है। इसमें विभिन्न कमोडिटी के लिए कर की दरों को अंतिम रूप दिया जाएगा। बयान में कहा गया है कि राज्य विधानसभाओं में जिस तेजी से राज्य जीएसटी विधेयक को पारित किया जा रहा है उससे पता चलता है कि राज्य जीएसटी को समय पर क्रियान्वित करने के इच्छुक हैं। केंद्र के अलावा राज्यों के कर अधिकारियों ने पहले ही लोगों को जीएसटी के बारे में जानकारी देने के लिए कार्यक्रम शुरू किए हैं। यह भी पढ़ें: Paytm के जरिये क्रेडिट कार्ड से पैसा बैंक एकाउंट में ट्रांसफर करने से पहले पढ़ें ये खबर, वसूला जा रहा है 2% चार्ज

Write a comment