1. Home
  2. My Profit
  3. Stocks
  4. अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने से घरेलू शेयर बाजार में शुरुआती गिरावट, सेंसेक्स 50 अंक लुढ़का

अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने से घरेलू शेयर बाजार में शुरुआती गिरावट, सेंसेक्स 50 अंक लुढ़का

अमेरिकी में ब्याज दरें बढ़ने से घरेलू शेयर बाजार पर निगेटिव असर देखने को मिल रहा है। सेंसेक्स और निफ्टी की शुरुआत गिरावट के साथ हुई है।

Ankit Tyagi | Jun 15, 2017 | 9:29 AM
अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने से घरेलू शेयर बाजार में शुरुआती गिरावट, सेंसेक्स 50 अंक लुढ़का

नई दिल्ली। अमेरिकी सेंट्रल बैंक के ब्याज दरों में बढ़ोतरी के फैसले का निगेटिव असर आज घरेलू शेयर बाजार पर देखने को मिल रहा है। सेंसेक्स और निफ्टी की शुरुआत गिरावट के साथ हुई है। फिलहाल  (9:20 AM) BSE का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 10 अंक गिरकर 31150 के स्तर पर आ गया है। वहीं, NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी  10 अंक की गिरावट के साथ 9608 के स्तर पर है। आपको बता दें कि शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (SCI) के बिकने की खबर के चलते शेयर में 12 फीसदी का उछाल है। वहीं, अन्य मिडकैप कंपनी के शेयर वकरांगी और प्रेस्टीज एस्टेट 3 फीसदी उछल गए है।  यह भी पढ़े: निफ्टी 5 साल में छुएगा 30 हजार का स्तर, अब इन शेयरों में हैं कमाई का बड़ा मौका

बाजार में नहीं है फिलहाल बड़ी गिरावट की आशंका

ज्वाइंड्रे कैपिटल अविनाश गोरक्षकर का कहना है कि बाजार में जब भी निगेटिव खबरें आती है वहां बाजार में करेक्शन दिखाई देता है। जीएसटी और मानसून ट्रिगर के कारण किसी भी गिरावट में निफ्टी 9500-9550 के स्तर पर कारोबार कर सकता है। हालांकि बाजार में चुनिंदा शेयरों में तेजी बरकरार रह सकती है। लिहाजा गिरावट पर खरीदारी करने की राय होगी।यह भी पढ़े:इन कंपनियों के मालिकों ने 1.8 लाख करोड़ रुपए के शेयर रखें गिरवी, निवेशक रहें सावधान

बैंकिंग शेयरों पर रखें नजर

यूटीआई एएमसी की एक्जीक्यूटिव वीपी और फंड मैनेजर स्वाति कुलकर्णी का कहना है कि पिछले 2-3 साल से बैंको में एसेट क्वालिटी को लेकर जिस तरह की दिक्कतें बैंकों के समक्ष आई है अगर वह ठीक होते है तो बैंकिंग सेक्टर में काफी अच्छी तेजी देखने को मिल सकती है। लिहाजा पीएसयू बैंकिंग सेक्टर में वैल्यूएशन देख निवेश करने की सलाह होगी। आईटी सेक्टर पर बाजार का नजरिया काफी नकारात्मक है बावजूद उसके इस सेक्टर के स्टॉक्स के बैलेंसशीट काफी अच्छे है। लिहाजा इस सेक्टर में लंबी अवधि के लिए खरीदारी करने की सलाह होगी।यह भी पढ़े: #monsoon2017: मानसून के इस सीजन में आपके पास है इन शेयरों में पैसा बनाने का मौका, ऐसे उठाएं फायदा

अमेरिका में बढ़ी ब्याज दरें

अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व (फेड) ने इस साल दूसरी बार फिर से ब्याज दरों में इजाफा कर दिया है। बुधवार को फेडरल रिजर्व ने  ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी की है। अब अमेरिका में ब्याज दरें बढ़कर 1 से 1.25 फीसदी हो गई है। इस खबर के बाद दुनियाभर के शेयर बाजार और करेंसी बाजार में गिरावट का माहौल देखने को मिल रहा है, क्योंकि दरें बढ़ने के बाद ट्रेडर्स की ओर से रक्षात्मक कदम उठाए जा रहे है।  एक्सपर्ट्स का मानना है कि ब्याज दरों में बढ़ोतरी की उम्मीद पहले से लगाई जा रही थी, लेकिन अमेरिका में अर्थव्यवस्था को लेकर आ रहे आंकड़े अभी भी कमजोर है। लिहाजा बाजार पर इसका असर देखने को मिलेगा।यह भी पढ़े: एक महीने में 70 फीसदी तक गिरे इन शेयरों के भाव, अब क्या करें निवेशक

घरेलू शेयर बाजार पर क्या होगा असर

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वी के शर्मा का कहना है कि अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व के ब्याज दरों में  0.25 फीसदी तक बढ़ोतरी की उम्मीद पहले से थी। लेकिन फेड ने आनेवाले समय में और दरें बढ़ाने की बात कहीं है। इसीलिए, दुनियाभर के शेयर बाजारों पर निगेटिव असर है। वीके शर्मा के मुताबिक मौजूदा समय में बाजार में उतार-चढ़ाव का माहौल बना हुआ है। निफ्टी में 9585 के स्तर पर अहम सपोर्ट है अगर किसी कारण यह सपोर्ट तुड़ता है तो बाजार में गिरावट की संभावनाएं बढ़ सकती है अन्यथा तेजी का माहौल बना रहेगा।यह भी पढ़े: जून में IPO के जरिए CDSL समेत ये कंपनियां जुटाएंगी 5 हजार करोड़ रुपए, आपके पास है बड़े रिटर्न पाने का मौके

 

Write a comment