1. Home
  2. My Profit
  3. Stocks
  4. सरकारी बैंकों के शेयरों में आई खरीदारी से बाजार को मिला सहारा, सेंसेक्स 52 अंक बढ़कर 31156 पर बंद

सरकारी बैंकों के शेयरों में आई खरीदारी से बाजार को मिला सहारा, सेंसेक्स 52 अंक बढ़कर 31156 पर बंद

PNB, केनरा बैंक,देना बैंक के मर्जर की खबरों के बाद शेयरों में आई तेजी से घरेलू शेयर बाजार को सहारा मिला है। बुधवार के सत्र में सेंसेक्स और निफ्टी बढ़कर बंद।

Ankit Tyagi | Jun 14, 2017 | 3:40 PM
सरकारी बैंकों के शेयरों में आई खरीदारी से बाजार को मिला सहारा, सेंसेक्स 52 अंक बढ़कर 31156 पर बंद

नई दिल्ली। पीएनबी, केनरा बैंक और देना बैंक के मर्जर की खबरों के बाद शेयरों में आई तेजी से घरेलू शेयर बाजार को सहारा मिला है। बुधवार के सत्र में सेंसेक्स और निफ्टी गिरावट को खत्म करते हुए अंत में हरे निशान पर बंद हुए।  BSE का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 52 अंक बढ़कर 31156 के स्तर पर और NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 11 अंक की तेजी के साथ 9618 के स्तर पर बंद हुआ। यह भी पढ़े: जून में IPO के जरिए CDSL समेत ये कंपनियां जुटाएंगी 5 हजार करोड़ रुपए, आपके पास है बड़े रिटर्न पाने का मौके

अमेरिकी सेंट्रल बैंक के फैसले का घरेलू बाजार पर नहीं होगा ज्यादा असर 
रिस्क कैपिटल एडवाइजर्स के डी डी शर्मा का मानना है कि अमेरिकी सेंट्रल बैंक फेडरल रिजर्व की बैठक में इस बार बड़े बदलाव की उम्मीद नजर नहीं आ रही है। ऐसे में भारतीय बाजारों की चाल पर खास असर नहीं होगा। घरेलू शेयर बाजार फिलहाल डॉमेस्टिक ट्रिगर्स पर काम कर रहे है। खासकर मानसून पर बाजार का फोकस है। महंगाई दर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर आने से ब्याज दरें घटने की उम्मीद बढ़ गई है। ऐसे में एफआईआई की नजर आनेवाले रेट कट पॉलिसी पर रहेगी। मौजूदा समय में आईआईटी सेक्टर काफी धीमी गति से चल रहा है जिसे ट्रैक पर लाने के लिए आरबीआई के समक्ष काफी चुनौतियां है जिसके कारण आनेवाले समय में इस सेक्टर के लिए आरबीआई रेट कट पॉलिसी में कोई एलान करें। यह भी पढ़े: निफ्टी 5 साल में छुएगा 30 हजार का स्तर, अब इन शेयरों में हैं कमाई का बड़ा मौका

अब क्या करें निवेशक

मोतीलाल ओसवाल एसेट मैनेजमेंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सिद्धार्थ बोथरा के अनुसार किसानों की कर्ज माफी का मुद्दा रुलर सेक्टर के लिए निराशाजनक हो सकता है। लेकिन इस कारण बाजार में किसी तरह का कोई बदलाव देखा जाए यह कहना सही नहीं होगा। क्योंकि बाजार काफी अच्छे मुमेंटम के साथ कारोबार कर रहा है। आईटी सेक्टर में आनेवाले 1-2 सालों से ग्रोथ बने रहने की संभावनाएं काफी कम है। लिहाजा इस सेक्टर में निवेश की सलाह नहीं होगी। फेड की बैठक से बाजार में उतार-चढ़ाव का माहौल देखने को मिल सकता है।

RBI के कदम से ICICI बैंक को होगा फायदा
सीएलएसए का कहना है कि 12 खातों के खिलाफ इंसॉल्वेंसी का मामला चलेगा। कर्ज में डूबी कंपनियों, पावर सेक्टर पर फोकस रहेगा। एनपीए पर कार्रवाई से ICICI बैंक को फायदा होगा।

विदेशी ब्रोकरेज हाउस ने बढ़ाया इन शेयरों का लक्ष्य

IOC
मैक्वायरी ने IOC पर आउटपरफॉर्म रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 550 प्रति शेयर का निर्धारित किया है।

वेदांता
मैक्वायरी ने वेदांता पर आउटपरफॉर्म रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 311 रुपए प्रति शेयर का तय किया है।

गोदरेज कंज्यूमर
मैक्वायरी ने गोदरेज कंज्यूमर पर आउटपरफॉर्म रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 2070 रुपए प्रति शेयर का निर्धारित किया है।

L&T
डॉएश बैंक ने L&T पर निवेश की सलाह कायम रखते हुए लक्ष्य 2050 रुपए प्रति शेयर का तय किया है। क्रेडिट सुइस ने L&T पर आउटपरफॉर्म रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 2060 रुपए प्रति शेयर का निर्धारित किया है।

TVS मोटर
HSBC ने TVS मोटर पर रिड्यूस की रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 340 से बढ़ाकर 450 रुपए तय किया है।

इंफोसिस
बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने इंफोसिस पर न्यूट्रल रेटिंग कायम रखते हुए लक्ष्य 1000 रुपए प्रति शेयर का तय किया है।

 

Write a comment