1. Home
  2. My Profit
  3. Stocks
  4. सेबी कमोडिटी एक्सचेंजों में ऑप्शंस ट्रेडिंग पर अगले महीने जारी करेगा दिशानिर्देश, दूर हुई कानूनी अड़चनें

सेबी कमोडिटी एक्सचेंजों में ऑप्शंस ट्रेडिंग पर अगले महीने जारी करेगा दिशानिर्देश, दूर हुई कानूनी अड़चनें

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) कमोडिटी डेरिवेटिव्स एक्सचेंजों में ऑप्शंस ट्रेडिंग पर अगले महीने दिशानिर्देश जारी करने की योजना बना रहा है।

Dharmender Chaudhary | Apr 30, 2017 | 6:50 PM
सेबी कमोडिटी एक्सचेंजों में ऑप्शंस ट्रेडिंग पर अगले महीने जारी करेगा दिशानिर्देश, दूर हुई कानूनी अड़चनें

नई दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) कमोडिटी डेरिवेटिव्स एक्सचेंजों में ऑप्शंस ट्रेडिंग पर अगले महीने दिशानिर्देश जारी करने की योजना बना रहा है। इस प्रस्ताव को लेकर तमाम कानूनी अड़चनें दूर हो गई हैं। यह भी पढ़ें: Ola को 2015-16 में रोजाना 6 करोड़ रुपए का घाटा, एक रुपए कमाने के लिए खर्च किए 4 रुपए

सेबी के निदेशक मंडल ने 26 अप्रैल को अपनी बैठक में इस बारे में प्रस्ताव को अंतिम रूप दिया था, जिससे ऑप्शंस ट्रेडिंग की शुरुआत का रास्ता साफ हो गया था। एक्सचेंजों, निवेशकों और बाजार भागीदारों द्वारा लंबे समय से इसकी मांग की जा रही है। फिलहाल कमोडिटी एक्सचेंजों पर सिर्फ वायदा कारोबार की अनुमति है।

सेबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, निदेशक मंडल की हाल की बैठक में प्रतिभूति अनुबंध (नियमन) (शेयर बाजार एवं क्लियरिंग कॉरपोरेशन) नियमन, 2012 के कुछ प्रावधानों में संशोधन की अनुमति दी गई है, जिससे कमोडिटी एक्सचेंज ऑप्शंस ट्रेडिंग शुरू कर सकेंगे।

सेबी ब्रोकरों और क्लियरिंग सदस्यों को कमोडिटी डेरिवेटिव के साथ शेयर बाजार में कामकाज करने के लिए एकल लाइसेंस देने का फैसला किया है। सेबी के निदेशक मंडल ने शेयर और कमोडिटी डेरिवेटिव क्षेत्र में शेयर ब्रोकर के एकीकरण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। इसके बाद प्रतिभूति बाजार में कामकाज करने वाले ब्रोकर या क्लियरिंग सदस्य को अलग इकाई स्थापित किए बिना कमोडिटी डेरिवेटिव्स में खरीद-बिक्री या सौदा करने की अनुमति होगी। यह भी पढ़ें: सहारा ने संपत्ति की बिक्री के लिए बोली समयसीमा बढ़ाकर की 20 मई, खरीददारों में टाटा, गोदरेज और अडाणी शामिल