1. Home
  2. My Profit
  3. Savings
  4. SBI के इन अकाउंट में जरूरी नहीं है मिनिमम बैलेंस मेंटेन करना, बैंक ने Tweet कर दी जानकारी

SBI के इन अकाउंट में जरूरी नहीं है मिनिमम बैलेंस मेंटेन करना, बैंक ने Tweet कर दी जानकारी

SBI ने स्पष्ट कर दिया है कि स्मॉल सेविंग्स बैंक अकाउंट्स, बेसिग सेविंग्स बैंक अकाउंट्स और कॉर्पोरेट सैलरी होल्डर्स को मिनिमम बैलेंस मेंटेन नहीं करना होगा।

Ankit Tyagi | Apr 17, 2017 | 11:20 AM
SBI के इन अकाउंट में जरूरी नहीं है मिनिमम बैलेंस मेंटेन करना, बैंक ने Tweet कर दी जानकारी

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों को ट्वीट के जरिए स्पष्ट कर दिया है कि स्मॉल सेविंग्स बैंक अकाउंट्स, बेसिग सेविंग्स बैंक अकाउंट्स, जन धन अकाउंट और कॉर्पोरेट सैलरी अकाउंट होल्डर्स को मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की जरुरत नहीं है। आपको बता दें कि SBI ने 1 अप्रैल से सेविंग अकाउंट में न्यूनमत बैलेंस सीमा बढ़ा दी थी।

इन अकाउंट के लिए मिनिमम बैलेंस है जरूरी

एसबीआई ने हाल में मेट्रो शहरों के लिए न्‍यूनतम बैलेंस 5,000 रुपए, शहरी इलाकों के लिए 3,000 रुपए, अर्द्ध-शहरी इलाकों के लिए 2,000 रुपए और ग्रामीण इलाकों के लिए 1,000 रुपए है। यह नया नियम एक अप्रैल से प्रभावी हो चुका है। यह जुर्माना आवश्‍यक न्‍यूनतम बैलेंस और उसमें कमी के बीच अंतर पर आधारित होगा।

यह भी पढ़े: 5,000 रुपए के मिनिमम बैलेंस मामले पर बोलीं SBI की चेयरपर्सन, नहीं हुआ नियमों में बदलाव

देना होगा जुर्माना

एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार एसबीआई के बचत खाताधारकों को मासिक आधार पर न्यूनतम राशि को अपने खाते में रखना होगा। ऐसा नहीं होने पर उन्हें 20 रुपए (ग्रामीण शाखा) से 100 रुपए (महानगर) देने होंगे। बैंक में 31 मार्च तक बिना चेक बुक वाले बचत खाते में 500 रुपए और चेक बुक की सुविधा के साथ 1,000 रुपए रखने की आवश्यकता थी।

यह भी पढ़े:  क्‍या आपके SBI एकाउंट में नहीं है न्‍यूनतम बैलेंस? तो एक अप्रैल से जुर्माना भरने के लिए हो जाएं तैयार

SBI की चेयरपर्सन ने दिया था स्पष्टीकरण

SBI की चेयरपर्सन अरुंधति भट्टाचार्य ने हाल में कहा था कि मिनिमम बैलेंस के नियमों में कोई बदलाव नहीं किया। उन्‍होंने स्पष्ट किया कि 5,000 रुपए का मिनिमम ऐवरेज बैलेंस सिर्फ छह महानगरों के लिए। शहरी क्षेत्रों के लिए यह राशि 3,000 रुपए है अर्द्ध-शहरी क्षेत्रों के लिए 2,000 और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 1,000 रुपए।

Write a comment