1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. दिसंबर तक 50 और डीलरशिप खोलेगी रेनो, बाजार हिस्सेदारी के मामले में पांचवीं सबसे बड़ी कार कंपनी बनी

दिसंबर तक 50 और डीलरशिप खोलेगी रेनो, बाजार हिस्सेदारी के मामले में पांचवीं सबसे बड़ी कार कंपनी बनी

रेनो अपने परिचालन के पांच साल में देश की पांचवीं सबसे बड़ी कार कंपनी बन गई है। 30 लाख सालाना बिक्री वाले कार बाजार में हिस्सेदारी 4.5 प्रतिशत हो गई है।

Dharmender Chaudhary | May 8, 2017 | 9:19 PM
दिसंबर तक 50 और डीलरशिप खोलेगी रेनो, बाजार हिस्सेदारी के मामले में पांचवीं सबसे बड़ी कार कंपनी बनी

मुंबई। रेनो इंडिया अपने परिचालन के पांच साल में देश की पांचवीं सबसे बड़ी कार कंपनी बन गई है। 30 लाख सालाना बिक्री वाले भारतीय कार बाजार में रेनो की हिस्सेदारी 4.5 प्रतिशत हो गई है। कंपनी ने इस साल दिसंबर तक 50 और डीलरशिप खोलने की योजना बनाई है। इससे कंपनी के डीलरों की संख्या 320 पर पहुंच जाएगी। यह भी पढ़ें: भारत की ग्रोथ अगले साल 7.5 प्रतिशत रहने की उम्मीद, खपत और बुनियादी ढांचे पर खर्च बढ़ने से मिलेगा सहारा

रेनो इंडिया के मुख्य कार्यकारी सुमित साहनी ने अपने चेन्नई मुख्यालय से कहा, पिछले पांच साल में हम न केवल देश में सबसे तेजी से बढ़ते कार ब्रांड बने हैं, बल्कि डीलरशिप की संख्या बढ़ाने में भी सबसे आगे है। 2016 के अंत तक हमारे डीलरों की संख्या 270 थी। 2015 की तुलना में इसमें 70 का इजाफा हुआ। दिसंबर के अंत तक हम 50 डीलरशिप और जोडेंगे। उन्होंने कहा कि रेनो ने सिर्फ तीन मॉडलों के बल पर यह हासिल किया है। यानी हम सिर्फ 30 प्रतिशत बाजार को ही उत्पाद उपलब्ध करा रहे हैं। कंपनी के मॉडलों में क्विड, कॉम्पैक्ट एसयूवी डस्टर और एमपीवी लॉजी शामिल हैं।

कंपनी ने अपनी सभी सीकेडी इकाइयों छोटी कार क्लोज और सेडान स्काला को दो साल पहले बंद कर दिया है। कंपनी ने 2016 में कुल 1,32,235 वाहन बेचे, जो 2015 से 146 प्रतिशत अधिक है। इसमें सबसे अधिक 75 प्रतिशत का हिस्सा क्विड का रहा। डस्टर का हिस्सा 20 प्रतिशत और शेष लॉजी का हिस्सा रहा। कंपनी ने वित्त वर्ष 2016-17 इससे पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 88.4 प्रतिशत वाहन अधिक बेचे। वित्त वर्ष में कंपनी की बिक्री 1,35,123 इकाइयों की रही। यह भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र ने कालाधन को रोकने के लिए नोटबंदी को बताया नाकाफी, कहा- और कदमों की जरूरत

Write a comment