1. Home
  2. My Profit
  3. Gadgets
  4. जियो की प्राइम योजना से नहीं बढ़ रही मांग, मार्च में पुरानी कंपनियों को हुआ लाभ

जियो की प्राइम योजना से नहीं बढ़ रही मांग, मार्च में पुरानी कंपनियों को हुआ लाभ

Reliance Jio की 4जी मोबाइल सेवा योजना प्राइम से उसके कनेक्शन की मांग को गति नहीं मिल रही है। हालांकि, पुरानी कंपनियों को लाभ हुआ है।

Dharmender Chaudhary | May 22, 2017 | 8:12 PM
जियो की प्राइम योजना से नहीं बढ़ रही मांग, मार्च में पुरानी कंपनियों को हुआ लाभ

नई दिल्ली। रिलायंस जियो (Reliance Jio)की 4जी मोबाइल सेवा योजना प्राइम से उसके कनेक्शन की मांग को गति नहीं मिल रही है। हालांकि, पुरानी कंपनियों को लाभ हुआ है। यूबीएस सिक्योरिटीज एशिया ने दूरसंचार नियामक ट्राई की मासिक ग्राहक रिपोर्ट के आधार पर यह बात कही है। यूबीएस ने अपनी रिपोर्ट में कहा, मार्च के आंकड़ें बताते हैं कि पुरानी कंपनियों को लाभ हुआ है पर जियो प्राइम में गति नहीं आ रही। यह भी पढ़ें: पैसेंजर कार बाजार में अल्‍टो की बादशाहत को लगा झटका, अप्रैल में बेस्‍ट सेलिंग मॉडल बनी मारुति स्विफ्ट

यूबीएस ने कहा कि हमें अचंभा है कि मार्च से मांग में तेजी का अभाव है जबकि उसी समय जियो प्राइम पेशकश की घोषणा की गई थी। जियो की भुगतान आधारित सेवा का पहला महीना अप्रैल था। जियो की प्राइम सेवा 309 रुपए प्रति महीने पर शुरू हुई। इसके तहत ग्राहक को एक गीगाबाइट 4जी मोबाइल ब्राडबैंड सेवा प्रतिदिन दी गई। इसके साथ असीमित मात्रा में किसी नेटवर्क पर असीमित कॉल की भी सुविधा दी गई है।

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण की रिपोर्ट के अनुसार देश की अब चौथी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो शुद्ध रूप से 58.3 लाख मोबाइल ग्राहक जोड़कर लगातार मोबाइल टेलीफोन के क्षेत्र में गति दे रही है। कंपनी की प्रतिद्वंद्वी भारती एयरटेल ने आलोच्य महीने में शुद्ध रूप से 29.9 लाख ग्राहक जोड़े। आइडिया ने शुद्ध रूप से 20.9 लाख ग्राहकों को जोड़े जबकि बीएसएनएल ने 20.7 लाख नये ग्राहकों को जोड़े। वोडाफोन ने मार्च में 18.3 लाख नए कनेक्शन जोड़े। यह भी पढ़ें: नए फसल वर्ष में खाद्यान्न उत्पादन के नए रिकॉर्ड को छूने की संभावना, देश में पैदा होगा 27.33 करोड़ टन अनाज

Write a comment