1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. GST में गुम या चोरी हुए तथा उपहार में दिए गए सामान का रखना होगा पूरा रिकॉर्ड, CBEC ने जारी किए नियम

GST में गुम या चोरी हुए तथा उपहार में दिए गए सामान का रखना होगा पूरा रिकॉर्ड, CBEC ने जारी किए नियम

GST की आगामी एक जुलाई से शुरू होने वाली नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था के तहत गुम हुए, चोरी हो गए अथवा नष्ट हुए सामान का अलग रिकॉर्ड रखना होगा।

Abhishek Shrivastava | Apr 20, 2017 | 9:09 PM
GST में गुम या चोरी हुए तथा उपहार में दिए गए सामान का रखना होगा पूरा रिकॉर्ड, CBEC ने जारी किए नियम

नई दिल्‍ली। वस्तु एवं सेवाकर (GST) की आगामी एक जुलाई से शुरू होने वाली नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था के तहत गुम हुए, चोरी हो गए अथवा नष्ट हुए सामान का अलग रिकॉर्ड रखना होगा। इसी प्रकार नमूने के तौर पर दिए गए सामान या फिर उपहार में दिए गए सामान का भी रिकॉर्ड रखना होगा।

जीएसटी के तहत रिकॉर्ड के रखरखाव के लिए तैयार मसौदा नियमों में कहा गया है कि लेखा खातों को क्रमानुसार रखना होगा और रजिस्टर में, खातों में अथवा दस्तावेज में कोई बदलाव, कांटछांट या ओवरराइटिंग भी नहीं होगी। केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) द्वारा जारी इन नियमों के मसौदे में प्रत्येक गतिविधि के लिए अलग से रिकॉर्ड रखने को कहा गया है। विनिर्माण हो या फिर व्यापार अथवा सेवाओं के लिए प्रावधान है कि हर गतिविधि का रिकॉर्ड अलग-अलग रखा जाना चाहिए। यह भी पढ़ें:  Wipro ने परफोर्मेंस अप्रेजल के बाद की 600 कर्मचारियों की छुट्टी, संख्‍या में हो सकता है और इजाफा

बोर्ड ने कहा है कि वस्तु अथवा सेवाओं के लिए एक सही और सच्चा लेखा रखना होगा। इसके लिए संबंधित दस्तावेज, जिसमें कि चालान, आपूर्ति बिल, सपुर्दगी चालान, क्रेडिट नोट, डेबिट नोट, प्राप्ति रसीद, भुगतान और रिफंड चालान और ई-वे बिलों को नई जीएसटी व्यवस्था के तहत सुनियोजित तरीके से रखना होगा।

जीएसटी को देश में आजादी के बाद का सबसे बड़ा कर सुधार माना जा रहा है। इसे काफी सरल और कम अनुपालन आवश्यकताओं वाली कर व्यवस्था माना जा रहा है। इसमें कहा गया है कि प्रत्येक सामान के स्टॉक का साफ सुथरे तरीके से रिकॉर्ड रखा जाना चाहिए। माल की प्राप्ति, उसकी आपूर्ति का साफ साफ रिकॉर्ड रखा जाना चाहिए।

शुरू में कितना माल था, कितना प्राप्त हुआ, कितना आपूर्ति किया गया, कितना गुम हो गया, खराब हो गया, समाप्त कर दिया गया अथवा नि:शुल्क नमूनों के तौर पर दिया गया या फिर उपहार में दिया गया, उसका पूरा रिकॉर्ड होना चाहिए। कच्चा माल कितना है, तैयार माल कितना है, बेकार टुकड़े और अपशिष्ट कितना है, इसका भी सभी रिकॉर्ड होना चाहिए।

Write a comment