1. Home
  2. My Profit
  3. News To Use
  4. 15 जून से धनबाद-चंद्रपुर रूट पर नहीं चलेगी कोई रेलगाड़ी, रेलवे ने ऑपरेशन बंद करने का लिया निर्णय

15 जून से धनबाद-चंद्रपुर रूट पर नहीं चलेगी कोई रेलगाड़ी, रेलवे ने ऑपरेशन बंद करने का लिया निर्णय

रेलवे बोर्ड ने धनबाद डिवीजन में 41 किलोमीटर लंबे धनबाद-चंद्रपुर सेक्‍शन पर यात्री और माल दोनों रेलगाडि़यों के ऑपरेशन को बंद करने का फैसला किया है।

Abhishek Shrivastava | Jun 11, 2017 | 11:39 AM
15 जून से धनबाद-चंद्रपुर रूट पर नहीं चलेगी कोई रेलगाड़ी, रेलवे ने ऑपरेशन बंद करने का लिया निर्णय

नई दिल्‍ली। रेलवे बोर्ड ने एक बहुत बड़ा निर्णय लिया है। बोर्ड ने ईस्‍ट सेंट्रल रेलवे (ईसीआर) के तहत आने वाले धनबाद डिवीजन में 41 किलोमीटर लंबे धनबाद-चंद्रपुर सेक्‍शन पर यात्री और माल दोनों रेलगाडि़यों के ऑपरेशन को बंद करने का फैसला किया है। यह ऑपरेशन 15 जून से बंद कर दिया जाएगा। यह फैसला झरिया और रानीगंज कोलफील्‍ड क्षेत्र में खदानों में लगी आग की वजह से लिया गया है। डायरेक्‍टर डायरेक्‍टर जनरल ऑफ माइंस सेफ्टी की ताजा सिफारिशों के बाद बोर्ड ने सुरक्षा के मद्देनजर यह कदम उठाया है।

रेलवे के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि डायरेक्‍टर जनरल ने सात कोलफील्‍ड्स बुसेरया, सेंड्रा बंसजोर, कटरास चौटीदिह, एकेएमएमसी, न्‍यू आकाशकिनारे, साउथ गोविंदपुर और तेतूरा का निरिक्षण किया था। उनकी रिपोर्ट में कहा गया है कि इन कोलफील्‍ड का 14 किलोमीटर का एरिया सुरक्षित नहीं है। यह भी पढ़ें:  रेलवे कारोबारियों के लिए चलाएगी AC डबल-डैकर ट्रेन, एक रात में पूरा होगा सफर

वर्तमान में धनबाद-चंद्रपुर सेक्‍शन पर रोजाना 20 जोड़ी मेल और एक्‍सप्रेस ट्रेन तथा 6 जोड़ी अन्‍य यात्री ट्रेन का संचालन होता है, जिनका मार्ग परिवर्तन किया जाएगा। इस रूट पर प्रतिदिन 20,000 यात्री यात्रा करते हैं, जिन्‍हें इस रूट के 15 जून से बंद हो जाने के बाद परेशानी का सामना करना होगा।

होगा सालाना 3,000 करोड़ का नुकसान

रेलवे को धनबाद-चंद्रपुर सेक्‍शन बंद करने से सालाना 3,000 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। रेलवे को इस रूट पर सालाना माल ढुलाई से तकरीबन 2500 करोड़ और 500 करोड़ रुपए की आय यात्री टिकट बिक्री से होती है।

खोजा जाएगा नया रास्‍ता

सूत्रों के मुताबिक बोर्ड ने रेल इंडिया टेक्‍नीकल एंड इकोनॉमिक सर्विसेस (आरआईटीईएस), रेलवे की इंजीनियरिंग कंसल्‍टैंसी विंग, को धनबाद-चंद्रपुर रूट का वैकल्पिक रास्‍ता तलाशने के लिए कहा गया है, ताकि यात्रियों को ज्‍यादा लंबे समय तक परेशानी न झेलनी पड़े।

यह है वजह

झारखंड के झरिया कोलफील्‍ड में सालों से लगी आग की वजह से यह क्षेत्र काफी असुरक्षित हो गया है, इस वजह से रेलवे बोर्ड ने यह फैसला किया है। यात्रियों की सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए यह कदम उठाया गया है।

Write a comment