1. Home
  2. My Profit
  3. News To Use
  4. Paytm ने किया डिजिटल वॉलेट का बीमा, अब मोबाइल खोने या धोखाधड़ी से होने वाले नुकसान की भी होगी भरपाई

Paytm ने किया डिजिटल वॉलेट का बीमा, अब मोबाइल खोने या धोखाधड़ी से होने वाले नुकसान की भी होगी भरपाई

धोखाधड़ी वाले लेन-देन के कारण धन के नुकसान जैसे चोरी, मोबाइल खो जाने या Paytm वॉलेट अनधिकृत इस्तेमाल पर अब आपके पैसे डूबेंगे नहीं, वापस मिल जाएंगे।

Manish Mishra | Mar 21, 2017 | 10:34 AM
Paytm ने किया डिजिटल वॉलेट का बीमा, अब मोबाइल खोने या धोखाधड़ी से होने वाले नुकसान की भी होगी भरपाई

नई दिल्‍ली। मोबाइल वॉलेट कंपनी Paytm अब वॉलेट में रखे पैसों की रक्षा के लिए बीमा उपलब्‍ध कराएगी। धोखाधड़ी वाले लेन-देन के कारण धन के नुकसान जैसे चोरी, मोबाइल खो जाने या Paytm वॉलेट अनधिकृत इस्तेमाल पर अब आपके पैसे डूबेंगे नहीं, वापस मिल जाएंगे। इस सेवा के लिए Paytm कोई एक्‍स्‍ट्रा चार्ज भी नहीं लेगी, मतलब य‍ह पूरी तरह फ्री सर्विस होगी।

यह भी पढ़ें : दुनिया के सबसे अमीरों की सूची में बिल गेट्स लगातार चौथे साल पहले पायदान पर, टॉप-10 में नहीं कोई भी इंडियंस

यह है वॉलेट से गुम हुए पैसों के लिए क्‍लेम करने का तरीका

  • कंपनी ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है, जब इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना तकनीक मंत्रालय ने वॉलेट कंपनियों व बीमा कंपनियों को मिलकर काम करने की सिफारिश की है, जिससे मोबाइल वॉलेट में पैसे की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।
  • कंपनी ने अपने ब्‍लॉग के माध्‍यम से कहा है कि सभी उपभोक्ताओं की 20,000 रुपये या उनके वॉलेट में मौजूद धन (जो भी कम हो) का बीमा होगा।
  • अगर फोन चोरी हो जाता है या खो जाता है तो उपभोक्ता को 12 घंटे के भीतर Paytm को care@paytm.com  पर ईमेल कर या कस्‍टमर केयर नंबर +91 9643 979797 पर फोन कर सूचित करना होगा।
  • अगर मोबाइल खो जाता है FIR की कॉपी के साथ कंपनी को 12 घंटे के भीतर सूचित करना होगा।
  • सूचना मिलते ही कंपनी मोबाइल वॉलेट को 2 घंटे के भीतर ब्‍लॉक कर देगी।
  • अगर पैसे खोने का दावा सही निकलता है तो Paytm 5 दिनों के भीतर उपभोक्‍ता को पैसे वापस करेगी।

यह भी पढ़ें : सिर्फ 5000 रुपए में बुक कर सकते हैं टाटा की टिगोर, 29 मार्च को होगी लॉन्च

सरकार ने इस साल जनवरी में मोबाइल वालेट कंपनियों व बीमा कंपनियों में बातचीत की पहल की थी, जिससे इलेक्ट्रॉनिक वॉलेट के माध्यम से लेन-देन के बीमा के लिए एक ढांचा तैयार किया जा सके।

Write a comment