1. Home
  2. My Profit
  3. Car
  4. महिन्द्रा की बिक्री अप्रैल में 6 प्रतिशत घटी, ट्रैक्टरों की सेल में 22 फीसदी का इजाफा

महिन्द्रा की बिक्री अप्रैल में 6 प्रतिशत घटी, ट्रैक्टरों की सेल में 22 फीसदी का इजाफा

वाहन कंपनी महिन्द्रा एंड महिन्द्रा की बिक्री अप्रैल माह में 6 प्रतिशत घटकर 39,357 वाहन रही। हालांकि, ट्रैक्टरों की बिक्री में 22 फीसदी का इजाफा हुआ है।

Dharmender Chaudhary | May 2, 2017 | 3:36 PM
महिन्द्रा की बिक्री अप्रैल में 6 प्रतिशत घटी, ट्रैक्टरों की सेल में 22 फीसदी का इजाफा

नई दिल्ली। प्रमुख वाहन कंपनी महिन्द्रा एंड महिन्द्रा की बिक्री अप्रैल माह में 6 प्रतिशत घटकर 39,357 वाहन रही। कंपनी के ट्रैक्टरों की बिक्री हालांकि अप्रैल में 22 प्रतिशत बढ़कर 26,001 गई। एक साल पहले कंपनी ने अप्रैल में 41,863 वाहन बेचे थे। कंपनी ने अप्रैल 2016 में 21,386 ट्रैक्टर भी बेचे थे। यह भी पढ़ें: Reliance Jio: स्प्रेडट्रम लॉन्च करेगी सिर्फ 1500 रुपए में 4G फोन, कॉन्सेप्ट प्रोमोशन किया शुरू

कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक अप्रैल 2017 में घरेलू बाजार में उसके वाहनों की बिक्री चार प्रतिशत घटकर 37,829 रही। एक साल पहले घरेलू बाजार में उसने 39,357 वाहन बेचे थे। आलोच्य अवधि में कंपनी के वाहनों का निर्यात 39 प्रतिशत घटकर 1,528 रहा जबकि एक साल पहले अप्रैल में उसने 2,506 वाहनों का निर्यात किया था। कंपनी ने कहा कि अप्रैल में उसने 920 ट्रैक्टरों का निर्यात किया जो कि एक साल पहले किये गए निर्यात के मुकाबले 35 प्रतिशत अधिक रहा।

इस दौरान कंपनी के स्कॉर्पियो, एक्सयूवी500, जायलो, बोलेरो और वेरिटो वाहनों की बिक्री 15 प्रतिशत घटकर 19,325 रह गई। इस दौरान कंपनी के वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 16 प्रतिशत बढ़कर 15,066 रही। एक साल पहले इसी माह के दौरान कंपनी ने 12,947 वाहन बेचे थे। यह भी पढ़ें: इन्फोसिस US में 4 टेक्नोलॉजी-इनोवेशन हब बनाएगी, 2 साल में देगी 10 हजार अमेरिकन को जॉब

महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के ऑटोमोटिव क्षेत्र के अध्यक्ष राजन वढेरा ने कहा कि कंपनी को नए वित्त वर्ष में तमाम सकारात्मक संकेतों को देखते हुए बेहतर कारोबार की उम्मीद है। कंपनी के कृषि उपकरण क्षेत्र के अध्यक्ष राजेश जेजूरिकर ने कहा इस साल भी मानसून सामान्य रहने का अनुमान व्यक्त किएये जाने और रबी मौसम की फसल अच्छी आने से आने वाले महीनों में ट्रैक्टर की मांग बढ़ने की उम्मीद है।