1. Home
  2. My Profit
  3. Car
  4. सुजुकी के विकास कार्यक्रम में मारुति बड़ी भूमिका के लिए तैयार, इंजीनियरों की क्षमता का होगा विस्तार

सुजुकी के विकास कार्यक्रम में मारुति बड़ी भूमिका के लिए तैयार, इंजीनियरों की क्षमता का होगा विस्तार

मारुति अपनी मूल कंपनी सुजुकी के उत्पाद विकास कार्यक्रम में बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी कर रहा है। विटारा ब्रेजा की सफलता से मारुति काफी उत्साहित है।

Dharmender Chaudhary | May 8, 2017 | 5:25 PM
सुजुकी के विकास कार्यक्रम में मारुति बड़ी भूमिका के लिए तैयार, इंजीनियरों की क्षमता का होगा विस्तार

नई दिल्ली। मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) अपनी मूल कंपनी सुजुकी के उत्पाद विकास कार्यक्रम में बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी कर रहा है। विटारा ब्रेजा की सफलता से मारुति काफी उत्साहित है, क्योंकि इसमें उसके इंजीनियरों की प्रमुख भूमिका रही थी। अपने पूर्ववर्ती मॉडल जेन में 2000 में मामूली बदलावों से लेकर 2008-09 में छोटी कार ऑल्टो में पूर्ण बदलाव के बाद उपलब्ध प्लेटफॉर्म और इंजन पर एक वाहन के विकास के लिए कहे जाने के बाद मारुति अपने इंजीनियरों की क्षमता में विस्तार कर रही है। यह भी पढ़ें: IndiGo दे रही है सिर्फ 899 रुपए में हवाई सफर का मौका, ऐसे बुक करें टिकट

मारुति के कार्यकारी निदेशक (इंजीनियरिंग) सी वी रमण ने कहा कि कंपनी अब कॉम्पैक्ट एसयूवी विटारा ब्रेजा के विकास के अनुभव को और आगे बढ़ाना चाहती है। उन्होंने कहा, इससे हम एक कदम आगे बढ़े हैं। हमारे इंजीनियर अब यह समझ चुके हैं कि उपलब्ध प्लेटफॉर्म पर एक पूर्ण मॉडल का विकास कैसे करना है, सुजुकी की वैश्विक विकास प्रक्रिया का इस्तेमाल कैसे करना है, इंजीनियरिंग परीक्षण मानकों को कैसे समझना है और कैसे खुद फैसला करना है।

रमण ने कहा कि मारुति के इंजीनियर सुजुकी के साथ काफी काम साझा कर रहे हैं। हमें यह सुनिश्चित करना है कि मारुति में काम कर रहे इंजीनियर कैसे सुजुकी में कार्यरत इंजीनियरों के समकक्ष आएं। यह पूछे जाने पर कि क्या मारुति के विटारा ब्रेजा जैसी किसी अन्य परियोजना पर काम करने की संभावना है, उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से। हमें और अवसर मिलेंगे क्योंकि मात्रा बढ़ने के साथ हमें नए खंडों और उत्पादों की ओर देखना होगा। ऐसे में भविष्य में हम किसी चीज  काम कर सकते हैं। यह भी पढ़ें: सोना 7 दिन में 1000 रुपए हुआ सस्ता, चांदी की कीमतों में 1875 रुपए की भारी गिरावट

Write a comment