1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. देश का कर राजस्व दो सालों में 30 लाख करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद, जीएसटी और नोटबंदी से होगी बढ़ोतरी

देश का कर राजस्व दो सालों में 30 लाख करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद, जीएसटी और नोटबंदी से होगी बढ़ोतरी

कर राजस्व अगले दो सालों में 30 लाख करोड़ के आंकड़े को छू सकता है। साल 2014 में जब एनडीए की सरकार बनी थी तो कुल कर राजस्व 13 लाख करोड़ रुपए था।

Dharmender Chaudhary | May 4, 2017 | 8:37 PM
देश का कर राजस्व दो सालों में 30 लाख करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद, जीएसटी और नोटबंदी से होगी बढ़ोतरी

नई दिल्ली। देश का कर राजस्व अगले दो सालों में 30 लाख करोड़ के आंकड़े को छू सकता है। परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को कहा कि साल 2014 में जब भारतीय जनता पार्टी सत्ता में आई थी तो उस वक्त के राजस्व से दोगुनी होगी। उन्होंने कहा यह बढ़ोतरी वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू करने तथा नोटबंदी के कारण होगी। यह भी पढ़ें: ट्रेन सफर 10 फीसदी तक होगा महंगा, किराया बढ़ाने के इन पांच तरीकों पर प्रभु कर रहे हैं विचार

मंत्री ने कहा, “जब हमारी सरकार बनी तो कुल कर राजस्व 13 लाख करोड़ रुपए था। पिछले तीन सालों में यह बढ़कर 20 लाख करोड़ रुपए हो गया। और नोटबंदी और जीएसटी के बाद यह बढ़कर 28 लाख करोड़ से ज्यादा हो जाएगी। यहां तक कि यह 30 लाख करोड़ के आंकड़े को भी छू सकती है।”  यह आंकड़े थोड़े आशावादी प्रतीत होते हैं, क्योंकि वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा है कि जीएसटी के पहले वर्ष में कुल राजस्व संग्रह में वृद्धि कम हो सकती है।

राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने हाल ही में आईएएनएस को बताया था कि 2017-18 केंद्रीय बजट में कर राजस्व में 12 फीसदी की बढ़ोतरी का अनुमान लगाया गया है जो 19.12 लाख करोड़ रुपए है। जबकि वास्तविक वृद्धि दर 8 से 9 फीसदी होने का अनुमान है। इसका मतलब यह है कि 30 लाख करोड़ रुपए कर संग्रहण की उम्मीद अभी अगले कुछ सालों में पूरी होगी, जिसके बारे में मंत्री ने उम्मीद जाहिर की है। यह भी पढ़ें: Paytm के जरिये क्रेडिट कार्ड से पैसा बैंक एकाउंट में ट्रांसफर करने से पहले पढ़ें ये खबर, वसूला जा रहा है 2% चार्ज

Write a comment