1. Home
  2. My Profit
  3. Stocks
  4. गुरुवार की भारी गिरावट के बाद संभला रुपया, शुक्रवार को 6 पैसा मजबूत होकर 64.78/$ पर खुला

गुरुवार की भारी गिरावट के बाद संभला रुपया, शुक्रवार को 6 पैसा मजबूत होकर 64.78/$ पर खुला

गुरुवार की भारी गिरावट के बाद, शुक्रवार को भारतीय रुपए कुछ संभलता हुआ नजर आया। एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 6 पैसा कमजोर होकर 64.78 पर खुला है।

Ankit Tyagi | May 19, 2017 | 9:06 AM
गुरुवार की भारी गिरावट के बाद संभला रुपया, शुक्रवार को 6 पैसा मजबूत होकर 64.78/$ पर खुला

नई दिल्ली। गुरुवार की भारी गिरावट के बाद, शुक्रवार को भारतीय रुपए कुछ संभलता हुआ नजर आया। एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 6 पैसा कमजोर होकर 64.78 पर खुला है। आपको बता दें कि गुरुवार को रुपया डॉलर के मुकाबले 69 पैसे की कमजोरी के साथ 64.84 पर बंद हुआ। वहीं, बुधवार के कारोबार में भी डॉलर के मुकाबले रुपया 7 पैसे गिरकर 64.15 के स्तर पर बंद हुआ था। यह भी पढ़े: #ModiGoverment3Saal: मोदी राज में निफ्टी छुएगा 10 हजार का स्तर, इन चुनिंदा शेयरों में बनेगा पैसा

गुरुवार को रुपए में रही 10 महीने की सबसे बड़ी गिरावट

विदेशी विनिमय बाजार में गुरुवार का दिन रुपए बेहद खराब रहा। वैश्विक उथल पुथल बढ़ने के बीच अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 69 पैसे लुढ़ककर करीब एक माह के निम्न स्तर 64.84 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ। रुपए की विनिमय दर में यह 26 जुलाई 2016 के बाद की सबसे बड़ी गिरावट है। #ModiGoverment3Saal: मोदी के कार्यकाल में निवेशक हुए मालामाल, ऐसे 5 हजार रुपए लगाकर कमाए 3 लाख

अमेरिका की पॉलिटिकल टेंशन से रुपए पर बढ़ा दबाव

अमेरिका में राजनीतिक अस्थिरता उभरने के बीच वैश्विक वित्तीय बाजार में बिकवाली बढ़ने के बीच भारतीय शेयर बाजारों में भी तेज गिरावट दर्ज की गयी।  बैंकों और इंपोटर्स की डॉलर की भारी मांग के चलते अन्तरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 64.34 पर काफी कमजोर खुला। बुधवार को बाजार 64.15 पर बंद हुआ था। दोपहर बाद के कारोबार में रुपया भारी दवाब में रहा और अंत में रपए की दर 69 पैसे अथवा 1.06 प्रतिशत की बड़ी गिरावट के साथ 64.84 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ। पांच अप्रैल 2017 के बाद रपए की यह सबसे कमजोर विनियम दर है। उस दिन डालर का बंद भाव 64.87 रुपए था।।#ModiGoverment3Saal: सोने से रूठी ‘लक्ष्मी’, जुलाई तक हो सकता है 1100 रुपए सस्ता

रुपए में आगे मजबूती की उम्मीद

एचडीएफसी बैंक में फॉरेक्स डीलिंग के हेड आशुतोष रैना ने बताया, डॉलर में कमजोरी के चलते हाल में रुपया मजबूत हुआ है। वहीं, विदेशी निवेशकों के भारत पर बढ़ते भरोसे से भी इसे सपोर्ट मिल रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ मार्केट पार्टिसिपेंट्स डॉलर में शॉर्ट पोजिशन ले रहे हैं। भारत के बॉन्ड और इक्विटी मार्केट में विदेशी निवेशक काफी रकम लगा रहे हैं।

कोटक सिक्यॉरिटीज के करंसी ऐनालिस्ट अनिंद्य बनर्जी  के मुताबिक रुपए के फॉरवर्ड प्रीमियम में बढ़ोतरी से पता चलता है कि लोगों ने भारतीय करंसी के मुकाबले डॉलर में शॉर्ट सेलिंग शुरू कर दी है। बनर्जी ने कहा कि डॉलर इंडेक्स में गिरावट से भी रुपए की ताकत बढ़ी है। भारत में अभी महंगाई दर कम है। इसलिए यहां इन्वेस्टर्स को दूसरे इमर्जिंग मार्केट्स के मुकाबले हायर रियल इंटरेस्ट रेट मिल रहा है। इस वजह से विदेशी निवेशक भारत में और रकम ला रहे हैं।

Write a comment