1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूची में भारत 45वें स्थान पर फिसला, हांगकांग पहले नंबर पर

विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूची में भारत 45वें स्थान पर फिसला, हांगकांग पहले नंबर पर

इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट फॉर मैनेजमेंट डेवलपमेंट की प्रतिस्पर्धा सूची में भारत की रैंकिंग को झटका लगा है। भारत पिछले साल की तुलना में चार पायदान फिसल गया है।

Sachin Chaturvedi | Jun 4, 2017 | 1:58 PM
विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता सूची में भारत 45वें स्थान पर फिसला, हांगकांग पहले नंबर पर

नयी दिल्ली। इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट फॉर मैनेजमेंट डेवलपमेंट (आईएमडी) की प्रतिस्पर्धा सूची में भारत की रैंकिंग को झटका लगा है। भारत पिछले साल की तुलना में 2017 में चार पायदान फिसल गया है। अब भारत की रैंकिंग 45वें स्थान पर आ गई है। इस वार्षिक सूची में हांगकांग लगातार दूसरे साल पहले स्थान पर कायम रहने में सफल रहा है।

इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट फॉर मैनेजमेंट डेवलपमेंट के विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता केंद्र द्वारा तैयार सूची में अमेरिका का प्रदर्शन पिछले 5 वर्षों में सबसे खराब रहा है और यह तीसरे स्‍थान से लुढ़क कर चौथे पायदान पर पहुंच गया है। सूची में दूसरा स्‍थान स्विट्जरलैंड का है। वहीं सिंगापुर तीसरे स्‍थान पर जगह बनाने में कामयाब रहा है। इस लिस्‍ट में नीदरलैंड पांचवें स्थान पर है। यह पिछले साल आठवें नंबर पर था। इसके अलावा टॉप 10 में आयरलैंड छठे, डेनमार्क सातवें, लग्जमबर्ग आठवें, स्वीडन नौवें तथा संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) दसवें स्थान पर हैं। यह भी पढ़ें: भारत सहित दुनियाभर के एप डेवलेपर्स ऐसे कर रहे हैं एप्‍पल से कमाई, 9 साल में कमाए 70 अरब डॉलर

आईएमडी की इस लिस्‍ट में जहां भारत नीचे आया है वहीं पड़ौसी देश चीन पिछले साल की तुलना में सात स्थान चढ़कर 18वें पायदान पर पहुंच गया है। आईएमडी विश्व प्रतिस्पर्धात्मकता केंद्र के निदेशक आर्टुरो ब्रिस ने कहा, यदि आप चीन की ओर देखें तो उसकी स्थिति में सुधार की प्रमुख वजह अंतरराष्ट्रीय व्यापार को लेकर उसकी प्रतिबद्धता है। यह भी पढ़ें:  Apple ने शुरू की मेड इन इंडिया iPhone की बिक्री, कीमत सिर्फ 27200 रुपए

सूची में मुख्य रूप से वे देश निचले स्थान पर हैं जो राजनीतिक या आर्थिक गतिरोध झेल रहे हैं। यूक्रेन सूची में 60वें स्थान पर है। ब्राजील 61वें स्थान पर और वेनेजुएला 63 वें स्थान पर। यह सूची 1989 से लगातार प्रकाशित की जा रही है। इस बार सूची में 63 देशों को शामिल किया गया है। साइप्रस और सउदी अरब पहली बार सूची में स्थान पाने में सफल रहे हैं।

Write a comment