1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय की हुई घोषणा, बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी

वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय की हुई घोषणा, बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी

आइडिया सेल्युलर ने वोडाफोन इंडिया के साथ विलय की घोषणा कर दी है। कंपनी ने सोमवार को जानकारी दी कि उसके बोर्ड ने इस विलय-प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगा दी है।

Manish Mishra | Mar 20, 2017 | 2:53 PM
वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय की हुई घोषणा, बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी

नई दिल्‍ली। आइडिया सेल्युलर ने वोडाफोन इंडिया के साथ विलय की घोषणा कर दी है। कंपनी ने सोमवार को जानकारी दी कि उसके बोर्ड ने इस विलय-प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगा दी है।

इसके अंतर्गत वोडाफोन इंडिया और इसके पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड और आदित्य बिड़ला ग्रुप के आइडिया सेल्युलर का विलय हो जाएगा। नई कंपनी भारती एयरटेल को पीछे छोड़ कर देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन जाएगी।

विलय के बाद बनने वाली कंपनी के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला होंगे जबकि वोडाफोन इसमें सीएफओ नियुक्त करेगी।


यह भी पढ़ें :14,990 रुपए में लॉन्‍च हुआ Vivo Y66 स्मार्टफोन, 16MP फ्रंट कैमरे से है लैस

  • सोमवार को की गई घोषणा के अनुसार, आइडिया और वोडाफोन की विलय प्रक्रिया अगले साल पूरी हो जाएगी।
  • दोनों कंपनियों के प्रमुखों ने बताया कि वोडाफोन, आइडिया के विलय के बाद बनने वाली कंपनी में बराबर-बराबर हिस्सेदारी होगी।
  • आइडिया का वैल्युएशन 72,2000 करोड़ रुपया आंका गया है।
  • स्‍टॉक एक्‍सचेंज को दी गई जानकारी के अनुसार, आदित्‍य बिड़ला ग्रुप के पास 130 रुपए प्रति शेयर की दर से नई कंपनी के 9.5 प्रतिशत खरीदने का अधिकार होगा।
  • वोडाफोन के सीईओ विटाोरियो कोलाओ ने कहा कि विलय से 10 अरब डॉलर की संभावित पूंजी एक साथ आएगी।
  • बिड़ला ने कहा कि वोडाफोन की 4.9 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिये धन (3,874 करोड़ रुपए) आइडिया से नहीं बल्कि प्रवर्तकों से आएगा।  विलय के बाद आइडिया का आकार घटने को उन्‍होंने खारिज किया।
  • कोलाओ ने कहा कि सरकार के साथ चल रहे कर विवाद से विलय पर कोई असर नहीं होगा।
  • उन्‍होंने कहा कि विलय के बाद भी वोडाफोन और आइडिया ब्रांड दोनों ही अलग अलग चलते रहेंगे, क्योंकि दोनों ही काफी मजबूत ब्रांड हैं।
  • विलय के बाद बनने वाली कंपनी पर दिसंबर 2016 की स्थिति के अनुसार 1,070 अरब रुपए का शुद्ध कर्ज होगा।

आइडिया ने बीएसई को दी ये सूचना

यह भी पढ़ें :एक साल में 100 अरब डॉलर जुटा सकता है भारतीय शेयर बाजार : BSE सीईओ

  • पिछले महीने भारती एयरटेल ने भी शेयर बाजार को सूचित किया था कि वह टेलिनॉर इंडिया की परिसंपत्तियां खरीदेगी।
  • नॉर्वे की कंपनी टेलिनॉर ऐसे समय में भारतीय बाजार से अपना कारोबार समेटने जा रही है जब रिलायंस जियो 10 करोड़ ग्राहकों को अपने साथ जोड़ने में कामयाब हो गया है।
Write a comment