1. Home
  2. My Profit
  3. Home
  4. होम लोन पर इंटरेस्‍ट रेट जल्‍द होगा कम, रिजर्व बैंक ने लोन से जुड़े नियमों को बनाया और सरल

होम लोन पर इंटरेस्‍ट रेट जल्‍द होगा कम, रिजर्व बैंक ने लोन से जुड़े नियमों को बनाया और सरल

हाउसिंग सेक्‍टर को प्रोत्‍साहन देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने होम लोन जारी करने वाले बैंकों के लिए पूंजी आवश्‍यकता को और आसान बना दिया है।

Abhishek Shrivastava | Jun 7, 2017 | 9:15 PM
होम लोन पर इंटरेस्‍ट रेट जल्‍द होगा कम, रिजर्व बैंक ने लोन से जुड़े नियमों को बनाया और सरल

मुंबई। हाउसिंग सेक्‍टर को प्रोत्‍साहन देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने होम लोन जारी करने वाले बैंकों के लिए पूंजी आवश्‍यकता को और आसान बना दिया है। आरबीआई ने व्‍यक्तिगत होम लोन पर जोखिम भारांश को कम कर दिया है, जो तत्‍काल प्रभाव से लागू होगा। कम जोखिम भारांश के साथ बैंकों को अब इसके लिए कम पूंजी का प्रावधान करना होगा और इससे कर्जदार की क्षमता में और वृद्धि होगी।

आरबीआई की अधिसूचना के मुताबिक 30 लाख से अधिक लेकिन 75 लाख रुपए से कम के होम लोन, लोन-टू-वैल्‍यू (एलटीवी) अनुपात 80 प्रतिशत के साथ, पर जोखिम भारांश को घटाकर 35 प्रतिशत किया गया है। एलटीवी अनुपात लोन की वह अधिकतम राशि होती है, जिसे संपत्ति के कुल मूल्‍य के विपरीत जारी किया जा सकता है। यह भी पढ़ें:   पैसों की जरूरत होने पर पर्सनल लोन की जगह अपना सकते हैं ये रास्‍ता, नहीं देना होगा ज्‍यादा ब्‍याज

इसी प्रकार केंद्रीय बैंक ने 75 लाख रुपए से अधिक के व्यक्तिगत आवास ऋण के लिए जोखिम भारांश 75 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है। केंद्रीय बैंक के इस कदम से मकान के लिए कर्ज सस्ता हो सकता है। मानक संपत्ति प्रावधान या प्रत्येक कर्ज के एवज में अलग रखी जाने वाली राशि को 0.40 प्रतिशत से घटाकर 0.25 प्रतिशत किया गया है। इससे आवास ऋण पर ब्याज दर में कमी लाने में मदद मिलेगी। विश्‍लेषकों का कहना है कि कम जोखिम भारांश की वजह से बैंकों की पूंजी लागत कम होगी जिससे भविष्‍य में ब्‍याज दरों में निश्चित ही कटौती की संभावना होगी।

Write a comment