1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. Direct 2 Home: पेट्रोलपंप की लाइन में लगने का झंझट खत्‍म, अब पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी शुरू करने की तैयारी में सरकार

Direct 2 Home: पेट्रोलपंप की लाइन में लगने का झंझट खत्‍म, अब पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी शुरू करने की तैयारी में सरकार

पेट्रोल डीजल के मूल्‍यों की समीक्षा के बाद अब सरकार ने नए कदम की तैयारी शुरू कर दी है। इसके तहत जल्‍द ही पेट्रोल और डीजल की होम डिलीवरी शुरू की जा सकती है।

Sachin Chaturvedi | Jun 17, 2017 | 7:10 PM
Direct 2 Home: पेट्रोलपंप की लाइन में लगने का झंझट खत्‍म, अब पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी शुरू करने की तैयारी में सरकार

नई दिल्‍ली। देश में रोजाना पेट्रोल और डीजल के मूल्‍यों की समीक्षा के बाद अब सरकार ने नए कदम की तैयारी शुरू कर दी है। इसके तहत जल्‍द ही पेट्रोल और डीजल की होम डिलीवरी शुरू की जा सकती है। पेट्रोलियम मंत्रालय पिछले दो महीने से इस योजना पर गंभीरता से विचार कर रहा है। इस योजना के शुरू होने के बाद आम लोग फल, सब्‍जी या अन्‍य सामान की तरह ही अपनी कार के लिए ईंधन भी घर बैठे ही खरीद सकेंगे। इसके लिए डिलिवरी चार्ज अलग से लिया जा है।

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने अप्रैल से ही पेट्रोलियम उत्‍पादों की होम डिलीवरी सुविधा उपलब्‍ध कराने पर विचार कर रहा है। मंत्रालय के समक्ष इसके दो मॉडल पर विचार के लिए आए हैं। इसके पहले मॉडल में डिलिवरी पेट्रोलियम कंपनियों द्वारा की जाएगी। वहीं दूसरे मॉडल में प्राइवेट कंपनियों को इसमें शामिल किया जाएगा। ये कंपनियां दूरी के हिसाब से डिलिवरी चार्ज लेकर पेट्रोल और डीजल की सप्‍लाई करेंगी। हालांकि इसके लिए कंपनियों के पास वेयरहाउस होना जरूरी है साथ ही एरिया के हिसाब से डिलिवरी चार्ज भी फिक्‍स करना एक पेचीदा प्रक्रिया होगी। यह भी पढ़ें:एक दिन में पेट्रोल-डीजल के अब हैं दो भाव, ट्रांसपोर्टर्स से लेकर आम आदमी को हो रही है ये परेशानी

मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक पेट्रोल डिलिवरी में कोई मिलावट या धोखाधड़ी न हो इसके लिए भी पुख्‍ता इंतजाम किए जा रहे हैं। तेल की होम डिलिवरी मशीन के माध्‍यम से होगी, जहां उसकी शुद्धता और मात्रा को भी सही प्रकार चेक किया जाएगा। विशेषज्ञाें का मानना है कि इससे लोगों को तो सुविधा होगी ही बल्कि देश भर में नए रोजगार और कारोबार के अवसर पैदा होंगे।

अप्रैल से जारी हैं कोशिशें

पेट्रोलियम मंत्रालय पिछले दो महीने से पेट्रोल और डीजल की होम डिलिवरी के लिए फॉर्मूला तय करने की तैयारी में है। मंत्रालय ने अप्रैल में ट्वीट के माध्‍यम से इसकी जानकारी दी थी। ट्वीट में यह कहा गया कि यदि कोई ग्राहक पहले से ईंधन की प्री-बुकिंग करवाता है तो उसे होम डिलीवरी सुविधा देने की योजना पर विचार चल रहा है। मंत्रालय ने कहा कि इस योजना से पेट्रोल पंप पर लंबी लाइन में लगने के झंझट से मुक्ति मिलेगी और उपभोक्‍ताओं का कीमती समय भी बचेगा। मंत्रालय ने अपने ट्वीट में कहा कि प्रतिदिन तकरीबन 35 करोड़ लोग ईंधन के लिए प्रतिदिन पेट्रोल पंपों पर आते हैं। पेट्रोल पंपों पर प्रति वर्ष 2500 करोड़ रुपए (38.7 करोड़ डॉलर) का ट्रांजैक्‍शन होता है। यह भी पढ़ें: Royal Enfield ने दो खूबरसूरत स्पोर्ट्स बाइक से उठाया पर्दा, तस्वीरें देखकर हिल जाएंगे आप!

Write a comment