1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. स्टील के दाम कंट्रोल में रखने की हिदायत, कीमतें बढ़ीं तो सरकार करेगी हस्तक्षेप

स्टील के दाम कंट्रोल में रखने की हिदायत, कीमतें बढ़ीं तो सरकार करेगी हस्तक्षेप

इस्पात सचिव अरुणा शर्मा ने कहा, घरेलू कीमत का सबसे बेहतर दायरा 35 से 40 हजार रुपये प्रति टन है। यदि यह 40 हजार रुपये से अधिक हुआ तो हम हस्तक्षेप करेंगे

Manoj Kumar | Sep 17, 2017 | 6:27 PM
स्टील के दाम कंट्रोल में रखने की हिदायत, कीमतें बढ़ीं तो सरकार करेगी हस्तक्षेप

नई दिल्ली। सरकार ने स्टील कंपनियों को स्टील की कीमत 40 हजार रुपये प्रति टन से नीचे रखने के प्रयास करने की हिदायत देते हुए कहा है कि उन्हें देश का दोहन करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। इस्पात सचिव अरुणा शर्मा ने कहा, घरेलू कीमत का सबसे बेहतर दायरा 35 से 40 हजार रुपये प्रति टन है। यदि यह 40 हजार रुपये से अधिक हो जाता है तो निश्चित हम हस्तक्षेप करेंगे।

यह भी पढ़ें: 30 सितंबर के बाद अमान्य हो जाएंगे इन 6 बैंकों के चेक, नई चेक बुक के लिए तुरंत करें आवेदन

स्टील मंत्रालय के नाते हम स्टील कंपनियों को देश दोहन करने नहीं दे सकते हैं। उन्होंने कहा, हमें संतुलन के लिए लगातार कोशिश करनी होगी। यह काफी महत्वपूर्ण है। संरक्षणवादी कदमों को सही कदम बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार आयात के खिलाफ नहीं है। उन्होंने कहा, हमारा बस यही कहना है कि भारत को आप माल खपाने की जगह नहीं बना सकते हैं। आप एक दम कम कीमत पर ऐसा नहीं कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: SBI खाते में लिमिट से कम बैलेंस रखना पड़ेगा महंगा, 27 करोड़ खाते MAB के दायरे में, बैंक वसूल चुका है 235 करोड़

उल्लेखनीय है कि भारत ने सस्ते आयात से घरेलू स्टील कंपनियों को बचाने के लिए हाल ही में चीन के कुछ स्टील उत्पादों पर पांच साल के लिए डंपिंग रोधी शुल्क लगाया था।

Write a comment