1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. जीएसटी काउंसिल ने दी ट्रांजिशन और रिटर्न सहित पेंडिंग नियमों को मंजूरी, सभी राज्‍य 1 जुलाई से लागू करने पर सहमत

जीएसटी काउंसिल ने दी ट्रांजिशन और रिटर्न सहित पेंडिंग नियमों को मंजूरी, सभी राज्‍य 1 जुलाई से लागू करने पर सहमत

वित्‍त मंत्री अरुण जेटली की अध्‍यक्षता में विज्ञान भवन में शुरू हुई जीएसटी काउंसिल की 15वीं बैठक में सोने पर टैक्‍स रेट को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई।

Abhishek Shrivastava | Jun 3, 2017 | 7:11 PM
जीएसटी काउंसिल ने दी ट्रांजिशन और रिटर्न सहित पेंडिंग नियमों को मंजूरी, सभी राज्‍य 1 जुलाई से लागू करने पर सहमत

नई दिल्‍ली। वित्‍त मंत्री अरुण जेटली की अध्‍यक्षता में राष्‍ट्रीय राजधानी के विज्ञान भवन में शुरू हुई जीएसटी काउंसिल की 15वीं बैठक में ट्रांजिशन और रिटर्न सहित लंबित नियमों को मंजूरी दे दी है। इसके अलावा सभी राज्‍यों ने एक जुलाई से देशभर में जीएसटी लागू करने पर अपनी सहमति भी दे दी है।

जीएसटी परिषद ने जीएसटी व्यवस्था के तहत रिटर्न भरने और बदलाव के दौर से गुजरने संबंधी तमाम नियमों सहित सभी लंबित नियमों को मंजूरी दे दी। इसके साथ ही सभी राज्य एक जुलाई से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) व्यवस्था लागू करने पर सहमत हो गए हैं। केरल के वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने यहां संवाददाताओं से कहा, हम नियमों पर चर्चा कर रहे हैं और उसे पूरा कर लिया गया है। जीएसटी व्यवस्था में बदलाव के दौर से गुजरने संबंधी नियमों को मंजूरी दे दी गयी है और सभी एक जुलाई से इसे लागू करने पर सहमत हो गए हैं।

सूत्रों ने बताया कि आज की इस मीटिंग के एजेंडे में सोना, टेक्‍सटाइल्‍स और बिस्किट समेत छह कमोडिटी के टैक्‍स रेट पर विचार करना शामिल था। केंद्र और राज्‍य एक जुलाई से देश में जीएसटी को लागू करने के लिए तेजी से मिलकर काम कर रहे हैं।

इस बैठक को बहुत ही महत्‍वपूर्ण माना जा रहा था क्‍योंकि इसमें शेष बची कमोडिटी के लिए टैक्‍स रेट और सेस की दर तय की जानी थी। लेकिन बैठक के पहले दिन इन पर कोई चर्चा नहीं हुई।  यह भी पढ़ें: आयकर विभाग ने दो लाख रुपए से अधिक नगद लेनदेन के प्रति किया आगाह, लोगों से जानकारी देने को कहा

परिषद ने पिछले महीने की बैठक में बिस्किट, टेक्‍सटाइल, फुटवियर, बीड़ी, तेंदू पत्‍ता के साथ ही साथ कीमती धातुओं, मोती, कीमती और अर्द्ध-कीमती पत्‍थर, सिक्‍कों और इमीटेशन ज्‍वैलरी पर टैक्‍स रेट को टाल दिया था। सूत्रों के मुताबिक कुछ राज्‍य सोने पर इनपुट टैक्‍स क्रेडिट के साथ 4 प्रतिशत टैक्‍स रेट चाहते हैं, जिससे इस कीमती धातु पर टैक्‍स की दर मौजूदा 2 प्रतिशत के बराबर ही बनी रहे। कुछ राज्‍य 100 रुपए प्रति किलो से कम दाम वाले बिक्सिट पर जीरो टैक्‍स चाहते हैं, जबकि केंद्र इसे 12 प्रतिशत टैक्‍स स्‍लैब में रखना चाहता है। यह भी पढ़ें:  सोना हुआ 100 रुपए सस्ता, चांदी की कीमतों में 850 रुपए की बड़ी गिरावट

Write a comment