1. Home
  2. My Profit
  3. Car
  4. जनरल मोटर्स 2017 के अंत से भारत में नहीं बेचेगी अपनी गाड़ियां, निर्यात पर देगी ध्यान

जनरल मोटर्स 2017 के अंत से भारत में नहीं बेचेगी अपनी गाड़ियां, निर्यात पर देगी ध्यान

कार कंपनी जनरल मोटर्स 2017 के अंत से भारत में अपने वाहनों की बिक्री बंद करेगी और निर्यात पर ध्यान देगी। घटती बिक्री के कारण कंपनी ने यह फैसला लिया है।

Dharmender Chaudhary | May 18, 2017 | 3:05 PM
जनरल मोटर्स 2017 के अंत से भारत में नहीं बेचेगी अपनी गाड़ियां, निर्यात पर देगी ध्यान

नई दिल्ली। अमेरिका की प्रमुख कार कंपनी जनरल मोटर्स 2017 के अंत से भारत में अपने वाहनों की बिक्री बंद करेगी और निर्यात पर ध्यान देगी। दो दशकों से भारतीय बाजार में पैर जमाने के लिए संघर्ष कर रही कंपनी ने गुरुवार को इस फैसले की घोषणा की। अब कंपनी तलेगांव (महाराष्ट्र) के प्लांट में बनी गाड़ियों को निर्यात करने पर ध्यान केंद्रित करेगी। कंपनी ने पिछने गुजरात के हालोल प्लांट में उत्पादन बंद कर दिया था। गौरतलब है कि जनरल मोटर्स की भारतीय बाजार में हिस्सेदारी 1 फीसदी से भी कम है। यह भी पढ़ें:  सोने से रूठी ‘लक्ष्मी’, जुलाई तक हो सकता है 1100 रुपए सस्ता

जनरल मोटर्स भारत में शेवरले के नाम से गाड़ियां बेचती है। भारतीय कार बाजार में कंपनी के स्पार्क, बीट, सेल, टवेरा, क्रूज और कैप्टिवा मॉडल मौजूद हैं। कंपनी ने 1995 में भारतीय बाजार में प्रवेश किया था। इसके बाद से लाखों प्रयासों के बावजूद कंपनी अपनी जगह नहीं बना पाई है।

कंपनी ने अपने बयान में कहा कि यह निर्णय जनरल मोटर्स इंडिया के लिए भविष्य में उत्पाद योजनाओं की व्यापक समीक्षा के ली गई है। कंपनी ने कहा कि पुराने ग्राहकों को सर्विस की सुविधा मिलती रहेगी। वहीं कंपनी रूस और यूरोप सहित चार अन्य अंतरराष्ट्रीय बाजारों से भी निकल गई है। जनरल मोटर्स के कार्यकारी उपाध्यक्ष और जीएम इंटरनेशनल के अध्यक्ष स्टीफन जैकोबी ने कहा कि कई विकल्पों की तलाश बावजूद भारत में किया गया निवेश अन्य महत्वपूर्ण वैश्विक अवसरों के मुकाबले लाभ नहीं देगा। उन्होंने कहा, “घरेलू बाजार में निवेश करने के बाद भी लंबे समय में भी फायदे का सौदा नहीं होगा।

भारत में 2016-17 के दौरान जनरल मोटर्स की बिक्री 21 फीसदी घटकर 25,823 यूनिट रही है। हालांकि, उत्पादन 16 फीसदी बढ़कर 83,368 यूनिट रही जिसको विदेशी बाजारों को निर्यात किया है। 2015 में कंपनी ने 10 स्थानीय रूप से निर्मित मॉडल को बनाने के लिए 1 अरब डॉलर निवेश करने की घोषणा की थी। यह भी पढ़ें: आधार के बिना अब नहीं मिलेगा सिम कार्ड, ब्रॉडबैंड कनेक्‍शन और लैंडलाइन फोन, TRAI ने जारी किए दिशानिर्देश

Write a comment