1. Home
  2. My Profit
  3. Savings
  4. यहां मिलती है सेविंग अकाउंट जैसी सुविधा और बेहतर रिटर्न, कोई भी लगा सकता है पैसे

यहां मिलती है सेविंग अकाउंट जैसी सुविधा और बेहतर रिटर्न, कोई भी लगा सकता है पैसे

सेविंग्‍स अकाउंट से बेहतर रिटर्न देने वाले लिक्विड फंडों पर इंस्‍टैंट रिडेंप्‍शन की सुविधा मिल रही है। इसका उद्देश्‍य आपकी इमरजेंसी की जरूरतों को पूरा करना है।

Manish Mishra | Apr 5, 2017 | 9:53 AM
यहां मिलती है सेविंग अकाउंट जैसी सुविधा और बेहतर रिटर्न, कोई भी लगा सकता है पैसे

नई दिल्‍ली। कहते हैं न कि कुछ पैसे हमेशा अपने हाथ में होने चाहिए। भविष्‍य को किसने देखा है। कब परिवार का कोई सदस्‍य बीमार हो जाए या कुछ अर्जेंट जरूरत ही आ जाए। तो, हम अपनी इन्‍हीं जरूरतों के लिए बैंकों के सेविंग्‍स अकाउंट या फिर आलमीरा में कुछ कैश हमेशा रखते हैं।

बैंक आपको 4-6 फीसदी सालाना रिटर्न देते हैं। लेकिन, आज हम आपको एक ऐसे विकल्‍प के बारे में बताएंगे जहां पैसे लगाना कैश इन हैंड जैसा ही है लेकिन रिटर्न बैंकों के सेविंग्‍स अकाउंट से कहीं बेहतर मिलेगा। क्‍या आप नहीं चाहेंगे कि आपको लिक्विडिटी के साथ बेहतर रिटर्न मिले?

यह भी पढ़ें :सरकार लाने वाली है आसान नियमों वाली यह इक्विटी सेविंग्‍स स्‍कीम, टैक्‍स बेनिफिट भी मिलेगा ज्‍यादा

लिक्विड फंडों में मिलती है इंस्‍टैंट रिडेंप्‍शन की सुविधा

भारतीय म्‍यूचुअल उद्योग अल्‍ट्रा शॉर्ट टर्म फंडों या लिक्विड फंडों में इंस्‍टैंट रिडेंप्‍शन की सुविधा दे रहा है। इसका उद्देश्‍य आपकी इमरजेंसी की जरूरतों को पूरा करना है। पहले लिक्विड फंडों से आप एक दिन के भीतर अपने पैसे निकाल सकते थे। इसके लिए 3 बजे से पहले आवेदन करना होता था। अब नियम बदल गए हैं। आप अपने पैसे इन फंडों से एक बटन क्लिक कर निकाल सकते हैं। इसके अलावा रिटर्न भी सेविंग्‍स अकाउंट से बेहतर पा सकते हैं। आपको बता दें कि ज्‍यादातर लिक्विड फंडों ने एक साल में 7 फीसदी से अधिक का रिटर्न दिया है।

लिक्विड फंडों के रिटर्न

स्रोत – valueresearchonline

लिक्विड फंड बनाम शॉर्ट टर्म फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट

आपका तर्क हो सकता है कि लिक्विड फंडों के बदले क्‍यों ने पैसों का निवेश शॉर्ट टर्म के फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट में किया जाए। इसमें कोई बुराई नहीं लेकिन कुछ बातों को समझिए। फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट में ज्‍यादा लचीलापन नहीं होता है। हो सकता है कि आप कम अवधि के लिए अपने पैसे फिक्‍स कर रहे हों लेकिन अगर समय से पहले निकासी करने जाएंगे तो बैंक पेनाल्‍टी लगा सकते हैं।

यह भी पढ़ें : SBI ने सेविंग अकाउंट पर अब बढ़ाए ये शुल्क, चेक बुक और लॉकर के लिए भी देने होंगे अधिक पैसे

लिक्विड फंडों के हो सकते हैं कुछ शर्त 

तत्‍काल पैसों की निकासी मामले में लिक्विड फंड कुछ शर्त लगा सकते हैं। जैसे एक तय सीमा से ज्‍यादा रकम आप शॉर्ट नोटिस पर नहीं निकाल सकते। निकासी की रकम आपके कुल निवेश का एक तय प्रतिशत हो सकती है। इसके बावजूद, लिक्विड फंड सुविधाजनक तो हैं ही, रिटर्न के मामले में भी बेहतर हैं।

Write a comment