1. Home
  2. My Profit
  3. Gold
  4. जेम्स एंड ज्वैलरी निर्यात इस साल 42 अरब डॉलर तक पहुंचने का अनुमान, मध्यपूर्व देशों से बढ़ी डिमांड

जेम्स एंड ज्वैलरी निर्यात इस साल 42 अरब डॉलर तक पहुंचने का अनुमान, मध्यपूर्व देशों से बढ़ी डिमांड

मध्यपूर्व और दक्षिण पूर्व एशिया में ऊंची मांग की वजह से इस वित्त वर्ष में भारत के जेम्स एंड ज्वैलरी का निर्यात 42 अरब डॉलर तक पहुंचने की संभावना है।

Dharmender Chaudhary | May 15, 2017 | 4:07 PM
जेम्स एंड ज्वैलरी निर्यात इस साल 42 अरब डॉलर तक पहुंचने का अनुमान, मध्यपूर्व देशों से बढ़ी डिमांड

नई दिल्ली। मध्यपूर्व और दक्षिण पूर्व एशिया में ऊंची मांग की वजह से इस वित्त वर्ष में भारत के जेम्स एंड ज्वैलरी का निर्यात 42 अरब डॉलर तक पहुंचने की संभावना है। वर्ष 2016-17 में जेम्स एंड ज्वैलरी का करीब 36 अरब डॉलर का निर्यात हुआ था। यह भी पढ़ें: अंडमान निकोबार में 3 दिन पहले मानसून ने दी दस्तक, मौसम विभाग ने कहा- पूर्वोत्तर भारत में प्री मानसून बारिश होगी तेज

जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रोमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) के उत्तरी क्षेत्र के अध्यक्ष अनिल संखवाल के अनुसार यूरोप ने निर्यातकों के सामने चुनौती पैदा कर दी है। उन्होंने कहा, लेकिन, अमेरिका, मध्यपूर्व के देश एवं दक्षिण पूर्व एशिया में मांग बढ़ रही है। हम आशा कर रहे हैं कि हमारा निर्यात इस साल 41-42 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा। उन्होंने सोने और हीरे के आभूषणों पर दुबई द्वारा पांच फीसदी आयात शुल्क लगाए जाने पर चिंता प्रकट की।

उन्होंने कहा, इस कदम से भारत का निर्यात प्रभावित होगा। हम इस स्थिति से निबटने के उपायों पर चर्चा कर रहे हैं क्योंकि दुबई एक महत्वपूर्ण बाजार है। निर्यात बढ़ाने के कदमों के बारे में उन्होंने कहा कि जीजेईपीसी ने राष्ट्रीय राजधानी में क्रेता-विक्रेता मेला आयोजित कर रहा है। रविवार को तीन दिवसीय भारत दक्षेस मध्यपूर्व क्रेता विक्रेता मेला शुरू हुआ है।

विदेशों में मजबूती के चलते स्थानीय लिवाली के बीच सोने की कीमतों में लगातार तीसरे दिन तेजी जारी रही। राष्ट्रीय राजधानी, दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने की कीमत 55 रुपए की तेजी के साथ 28,630 रुपए प्रति 10 ग्राम हो गई। हालांकि, बाजार में कमजोर उठान से चांदी की कीमत 100 रुपए की गिरावट के साथ 38,500 रुपए प्रति किग्रा रह गई। यह भी पढ़ें: अब बैलों की मदद से बिजली बनाने की तैयारी में है बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि, बुल पावर पर डेढ़ साल से चल रहा है शोध

Write a comment