1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. FY18 में वृद्धि दर होगी 7.2 प्रतिशत, जून में नहीं अगस्‍त में ब्याज दर में 0.25 फीसदी कटौती का अनुमान

FY18 में वृद्धि दर होगी 7.2 प्रतिशत, जून में नहीं अगस्‍त में ब्याज दर में 0.25 फीसदी कटौती का अनुमान

रिजर्व बैंक की नीति के बारे में रिपोर्ट में कहा गया है कि हमें उम्मीद है कि दो अगस्त को रिजर्व बैंक ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कटौती कर सकता है।

Abhishek Shrivastava | Jun 1, 2017 | 8:27 PM
FY18 में वृद्धि दर होगी 7.2 प्रतिशत, जून में नहीं अगस्‍त में ब्याज दर में 0.25 फीसदी कटौती का अनुमान

नई दिल्ली। देश की आर्थिक वृद्धि दर वित्त वर्ष 2017-18 में जीडीपी की नई श्रृंखला के आधार पर सुधरकर 7.2 प्रतिशत रहने का अनुमान है। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच (BofAML) ने अपने एक अध्ययन में यह अनुमान जताया है।

रिजर्व बैंक की नीति के बारे में रिपोर्ट में कहा गया है कि हमें उम्मीद है कि दो अगस्त को रिजर्व बैंक ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की कटौती कर सकता है। रिजर्व बैंक की नीति समीक्षा बैठक 6-7 जून को होनी है। इसमें ब्‍याज दरों को स्थिर रखा जा सकता है।  यह भी पढ़ें:  पैनासोनिक सबसे पहले भारत में लॉन्‍च करेगी अपना Invisible TV, यूज न होने पर बन जाएगा glass panel

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2016-17 में सकल मूल्य वर्धन (जीवीए) में 6.6 प्रतिशत की गिरावट देखी गई, जो वित्त वर्ष 2015-16 में 7.9 प्रतिशत थी। बोफाएमएल ने अपने एक शोध पत्र में कहा, यह आंकड़े हमारे मामूली सुधार के दृष्टिकोण को सुनिश्चित करता है। हमारा अनुमान है कि ऋण ब्याज दरों में कटौती पर वित्त वर्ष 2017-18 में जीडीपी की नई श्रृंखला के आधार पर वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत रहने और पुरानी श्रृंखला में छह प्रतिशत रहने का अनुमान है।

मई में खुदरा मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 2.5 प्रतिशत रही है। यह रिजर्व बैंक के महंगाई को 2-6 प्रतिशत रखने के लक्ष्य के अनुरूप है। इससे पहले छह अप्रैल को रिजर्व बैंक ने अपनी मौद्रिक समीक्षा में नीतिगत दरों में रेपो दर को अपरिवर्तित यानी 6.25 प्रतिशत रखा था जबकि रिवर्स रेपो दर को बढ़ाकर 5.75 प्रतिशत कर दिया था।

Write a comment