1. Home
  2. My Profit
  3. Stocks
  4. अप्रैल में भारतीय पूंजी बाजारों में एफपीआई ने 3.5 अरब डॉलर डाले, सरकारी बॉन्डों में किया निवेश

अप्रैल में भारतीय पूंजी बाजारों में एफपीआई ने 3.5 अरब डॉलर डाले, सरकारी बॉन्डों में किया निवेश

एफपीआई ने अप्रैल में भारतीय पूंजी बाजारों में 3.5 अरब डॉलर डाले। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड सरकारी बॉन्डों में एफपीआई के निवेश की सीमा बढ़ा दी है।

Dharmender Chaudhary | Apr 30, 2017 | 12:53 PM
अप्रैल में भारतीय पूंजी बाजारों में एफपीआई ने 3.5 अरब डॉलर डाले, सरकारी बॉन्डों में किया निवेश

नई दिल्ली। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने अप्रैल में भारतीय पूंजी बाजारों में 3.5 अरब डॉलर डाले। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड सरकारी बॉन्डों में एफपीआई के निवेश की सीमा बढ़ा दी है। इसके अलावा मजबूत वैश्विक संकेतकों की वजह से एफपीआई का भारतीय बाजारों में निवेश बढ़ा है। माह के दौरान ज्यादातर धन बॉन्ड बाजार में डाला गया। यह भी पढ़ें: बड़े आर्थिक आंकड़े और चौथी तिमाही के नतीजों से तय होगी बाजार की दिशा, सोमवार को नहीं होगा कारोबार

एडवाइजरीमंडी.कॉम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कौशलेंद्र सिंह सेंगर ने कहा, एफपीआई मुख्य रूप से बॉन्ड बाजार में निवेश कर रहे हैं इसकी दो मुख्य वजहें हैं। सेबी ने सरकारी बॉन्डों में एफपीआई के निवेश की सीमा बढ़ाई है। वहीं बेंचमार्क 10 साल के सरकारी बॉडों से प्राप्ति सात माह के उच्च स्तर पर पहुंच गई है।

रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने हाल में कहा है कि बैंकों के पास अभी भी कर्ज को सस्ता करने की गुंजाइश है। नोटबंदी की वजह से पहले ही बैंक ब्याज दरों में कमी कर रहे हैं जिससे निवेशकों की धारणा मजबूत हुई है। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि घरेलू कंपनियों के तिमाही नतीजों में सुधार और फ्रांस एमैन्यूअल मैकरॉन के राष्ट्रपति बनने की उम्मीदों से भी यहां धारणा को बल मिला। यह भी पढ़ें: पेपरमुक्‍त होगा हवाई सफर करना, आपका मोबाइल और आधार ही बनेगा बोर्डिंग पास

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार एफपीआई ने अप्रैल में शेयरों में शुद्ध रूप से 2,394 करोड़ रुपए डाले, वहीं उन्होंने ऋण या बॉन्ड बाजार में 20,364 करोड़ रुपए का निवेश किया। इस तरह उनका शुद्ध निवेश 22,758 करोड़ रुपए या 3.5 अरब डॉलर रहा।