1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. भारतीय कंपनियों ने FY 17 में कॉरपोरेट बांड्स के निजी नियोजन से जुटाए रिकॉर्ड सात लाख करोड़ रुपए

भारतीय कंपनियों ने FY 17 में कॉरपोरेट बांड्स के निजी नियोजन से जुटाए रिकॉर्ड सात लाख करोड़ रुपए

भारतीय कंपनियों ने पिछले वित्त वर्ष में कारोबारी जरूरतों की पूर्ति के लिए कॉरपोरेट बांड्स के निजी नियोजन के माध्यम से सात लाख करोड़ रुपए जुटाए

Abhishek Shrivastava | May 17, 2017 | 4:20 PM
भारतीय कंपनियों ने FY 17 में कॉरपोरेट बांड्स के निजी नियोजन से जुटाए रिकॉर्ड सात लाख करोड़ रुपए

नई दिल्ली। भारतीय कंपनियों ने पिछले वित्त वर्ष में कारोबारी जरूरतों की पूर्ति के लिए कॉरपोरेट बांड्स के निजी नियोजन के माध्यम से सात लाख करोड़ रुपए जुटाए, जो पिछले साल की तुलना में 43 फीसदी अधिक है।

कंपनियों ने यह कोष मुख्यत: कारोबार योजना के विस्तार, ऋण अदायगी और कार्यशील पूंजी जरूरतों को पूरा करने के लिए जुटाया है। कंपनियों ने ऋण के निजी नियोजन के तहत पूंजी जुटाने के लिए संस्थागत निवेशकों को प्रतिभूति या बांड जारी किए। यह भी पढ़ें:   ये है EPF के पैसे निकालने का ऑनलाइन तरीका, दफ्तरों के नहीं लगाने होंगे चक्‍कर

प्राइम डाटाबेस के मुताबिक कंपनियों ने वित्त वर्ष 2016-17 में 7,03,505 करोड़ रुपए जुटाए, जो पिछले वित्त वर्ष के 4,92,157 करोड़ रुपए से 43 प्रतिशत अधिक है। यह वर्ष 2001-02 के बाद किसी एक वित्त वर्ष में कंपनियों द्वारा जुटाई गई सर्वाधिक राशि है।

प्राइम डाटाबेस के प्रबध निदेशक प्रणव हल्दिया ने कहा कि कोष उगाही में आई इस जोरदार तेजी की वजह निजी क्षेत्र की कंपनियों का बेहतर योगदान हो सकता है। निजी कंपनियों ने वर्ष के दौरान ऋणपत्रों के निजी नियोजन के जरिये 4.24 लाख करोड़ जुटाए, जबकि सरकारी स्वामित्व वाले संगठनों ने 2.8 लाख करोड़ रुपए जुटाए। क्षेत्र के हिसाब से वित्तीय सेवाओं का क्षेत्र बाजार में छाया रहा, उसने 3.46 लाख करोड़ रुपए जुटाए, जो कुल राशि का 49 फीसदी है। उसके बाद विद्युत क्षेत्र का स्थान रहा जिसने 1,14,775 करोड़ रुपए जुटाए।

Write a comment