1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. नौकरियों में नुकसान की भरपाई में मददगार हो सकते हैं घरेलू अवसर, आईटी सेक्टर में छंटनी के बादल

नौकरियों में नुकसान की भरपाई में मददगार हो सकते हैं घरेलू अवसर, आईटी सेक्टर में छंटनी के बादल

आईटी क्षेत्र में नौकरियां जाने को लेकर चिंताओं के बीच एसोचैम ने कहा कि आउटसोर्सिंग कंपनियों को भीतर झांकते हुए घरेलू अवसरों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

Dharmender Chaudhary | May 17, 2017 | 9:28 PM
नौकरियों में नुकसान की भरपाई में मददगार हो सकते हैं घरेलू अवसर, आईटी सेक्टर में छंटनी के बादल

मुंबई। आईटी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर नौकरियां जाने को लेकर चिंताओं के बीच उद्योग संगठन एसोचैम ने कहा कि आउटसोर्सिंग कंपनियों को भीतर झांकते हुए घरेलू अवसरों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए ताकि छंटनियों में कमी की जा सके। यह भी पढ़ें: Jio के दम पर मुकेश अंबानी ग्लोबल गेम चेंजर की लिस्ट में टॉप पर, FREE सर्विस ने बदली लाखों लोगों की जिदंगी

एसोचैम ने एक नोट में कहा है, समय आ गया है कि हमारे उद्योग के दिग्गज थोड़ा भीतर झांकें। यह रणनीति फिर से तय करने का भी समय है जो कि घरेलू बाजार पर अधिक ध्यान दे। उल्लेखनीय है कि सूचना प्रौद्योगिकी व बिजनेस प्रोसेसस प्रबंधन उद्योग ने लगभग दो दशकों तक स्वस्थ वृद्धि दर्ज की लेकिन पश्चिमी देशों की संरक्षणवादी नीतियों तथा ऑटोमोशन से इसकी नौकरियों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। एक अनुमान के अनुसार दो लाख से अधिक सालाना छंटनियां हो सकती हैं। यह भी पढ़ें: दो दिन पहले केरल पहुंचेगा मानसून, IMD ने कहा- परिस्थिति अनुकूल समय पर होगी बारिश

आईटी कंपनियों का कहना है कि भारत तें घरेलू अवसर बहुत क्षीण हैं और उनके कारोबार में केवल इकाई अंक का हिस्सा रखते हैं। उसमें भी भुगतान से जुड़ी दिक्कते हैं। वहीं एसोचैम का कहना है कि जनधन योजना व आधार आधारित सेवा आपूर्ति माडल से रोचक अवसरों की पेशकश हो रही है। इसने कहा है कि इस समय भारतीय आईटी उद्योग वैश्विक कंपनियों के लिए जो काम करता है उसका 60 प्रतिशत हिस्सा बैंकिंग, वित्तीय सेवा व बीमा क्षेत्र का है। एसोचैम का कहना है कि घरेलू मोर्चे पर अधिक ध्यान देना देश व आईटी उद्योग दोनों के लिए फायदे का सौदा साबित होगा। एसोचैम के महासचिव डीएस रावत का दावा है कि घरेलू अवसरों पर ध्यान केंद्रित कर लाखों नये रोजगार सृजित किए जा सकते हैं।

Write a comment