1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. NPA खातों पर कार्रवाई के लिए बैंकों ने बनाई रणनीति, 12 बड़े डिफॉल्‍टर्स के खिलाफ बना एक्‍शन प्‍लान

NPA खातों पर कार्रवाई के लिए बैंकों ने बनाई रणनीति, 12 बड़े डिफॉल्‍टर्स के खिलाफ बना एक्‍शन प्‍लान

बैंकों ने सोमवार को 12 बड़े NPA वाले खातों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने के लिए बैठक की। भारतीय रिजर्व बैंक ने इन खातों की पहचान की है।

Manish Mishra | Jun 20, 2017 | 12:29 PM
NPA खातों पर कार्रवाई के लिए बैंकों ने बनाई रणनीति, 12 बड़े डिफॉल्‍टर्स के खिलाफ बना एक्‍शन प्‍लान

नई दिल्‍ली। बैंकों ने सोमवार को 12 बड़े NPA (गैर-निष्‍पादित परिसंपत्तियां) वाले खातों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने के लिए बैठक की। भारतीय रिजर्व बैंक ने इन खातों की पहचान की है। सूत्रों का कहना है कि इन खातों को इन्‍सॉल्‍वेन्‍सी एंड बैंकरप्‍सी  (IBC) के लिए भेजा जाना है। रिजर्व बैंक (RBI) ने जिन खातों की पहचान की है, उनमें एम्टेक ऑटो पर 14,074 करोड़ रुपए, भूषण स्टील पर 44,478 करोड़ रुपए, एस्सार स्टील पर 37,284 करोड़ रुपए, भूषण पावर एंड स्टील पर 37,248 करोड़ रुपए, आलोक इंडस्ट्रीज पर 22,075 करोड़ रुपए, मोनेट इस्पात पर 12,115 करोड़ रुपए और लैंको इन्फ्रा पर 44,364.6 करोड़ रुपए का कर्ज बकाया है।

यह भी पढ़ें : नई कर व्‍यवस्‍था लागू होने से पहले खरीदें ये चीजें, 1 जुलाई से हो जाएंगी महंगी

इस सूची में शामिल अन्य कंपनियां में इलेक्ट्रोस्टील स्टील्स पर 10,273.6 करोड़ रुपए, इरा इन्फ्रा पर 10,065.4 करोड़ रुपए, जेपी इन्फ्राटेक पर 9,635 करोड़ रुपए, एबीजी शिपयार्ड पर 6,953 करोड़ रुपए और ज्योति स्ट्रक्चर्स पर 5,165 करोड़ रुपए का कर्ज बकाया है। वित्त मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि बैंकों की सोमवार को बैठक हुई, जिसमें रिजर्व बैंक द्वारा पहचाने गए खातों को लेकर भविष्य की कार्रवाई योजना पर विचार किया गया।

यह भी पढ़ें : Prepaid Recharge : मोबाइल रिचार्ज करने के लिए यहां करें एक Missed Call, ये है तरीका

एक बैंक अधिकारी ने कहा कि बैठक में कुछ खातों के लिए कार्रवाई योजना पर विचार किया गया। इसके बाद इन्हें राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (NCLT) के पास भेजा जाएगा। एक अन्य बैंकर ने कहा कि बैठक में एम्टेक ऑटो, भूषण स्टील, एस्सार स्टील और अन्य खातों पर विचार विमर्श किया गया। पिछले सप्ताह रिजर्व बैंक की आंतरिक सलाहकार समिति ने अपनी बैठक के बाद 12 खातों को तत्काल IBC के लिए भेजने की सिफारिश की थी। बैंकिंग प्रणाली के सकल NPA में इन खातों का हिस्सा 25 फीसदी है।

Write a comment