1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. पैन कार्ड बनवाने और I-T रिटर्न फाइल करने के लिए आधार बताना इनके लिए जरूरी नहीं, सरकार ने दी राहत

पैन कार्ड बनवाने और I-T रिटर्न फाइल करने के लिए आधार बताना इनके लिए जरूरी नहीं, सरकार ने दी राहत

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेस ने कुछ लोगों को इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने या PAN बनवाने के लिए आधार नंबर बताने की अनिवार्यता से छूट दी है।

Abhishek Shrivastava | May 12, 2017 | 6:55 PM
पैन कार्ड बनवाने और I-T रिटर्न फाइल करने के लिए आधार बताना इनके लिए जरूरी नहीं, सरकार ने दी राहत

नई दिल्‍ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेस (CBDT) ने कुछ व्‍यक्तियों को इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने या स्‍थायी खाता संख्‍या (PAN) बनवाने के लिए आधार नंबर बताने की अनिवार्यता से छूट दी है।

राजस्‍व विभाग ने असम, जम्‍मू और कश्‍मीर, मेघालय के नागरिकों और 80 साल से अधिक उम्र के व्‍यक्तियों को रिटर्न फाइल करने और पैन बनवाने के लिए आधार नंबर बताने की अनिवार्यता से छूट प्रदान की है। इसके अलावा इनकम टैक्‍स कानून के मुताबिक अनिवासी और ऐसे सभी व्‍यक्तियों को, जो भारत के नागरिक नहीं है इससे छूट दी गई है। सरकार ने इस संबंध में एक अधिसूचना भी जारी कर दी है। यह भी पढ़ें: अब नहीं चलेगी इनकम टैक्‍स रिटर्न भरने में लेट-लतीफी, रिटर्न दाखिल करने में देरी पर लगेगी 10,000 तक लेट फीस

सरकार का यह फैसला ऐसे समय में आया है जब पैन और इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने में आधार को अनिवार्य बनाने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है। सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच ने इनकम टैक्‍स कानून में संशोधन कर आधार को अनिवार्य किए जाने की चुनौती पर अपना फैसला सुरक्षित रखा है।

वित्‍त मंत्रालय ने अपनी अधिसूचना में कहा है कि असम, जम्‍मू और कश्‍मीर तथा मेघालय के ना‍गरिकों को पैन बनवाने या रिटर्न फाइल करने में अपना आधान नंबर बताने की कोई आवश्‍यकता नहीं है। इसके अलावा यह छूट 80 वर्ष या इससे अधिक उम्र के नागरिकों, अनिवासी और गैर-भारतीयों को भी प्रदान की गई है।               यह भी पढ़ें:   Monsoon Offer: GoAir ने शुरू किया नया ऑफर, 599 रुपए के शुरुआती मूल्‍य पर मिल रहा है टिकट

सरकार ने वित्‍त कानून 2017 के तहत करदाताओं के लिए टैक्‍स रिटर्न फाइल करते समय अपना आधार नंबर बताना अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा 1 जुलाई 2017 से पैन बनवाने के लिए भी आधार नंबर अनिवार्य हो जाएगा। विभाग ने अभी तक 1.18 करोड़ आधार को पैन डाटा से जोड़ दिया है।

Write a comment