1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. आधार कानून में मजबूत गोपनीयता प्रावधान, आंकड़ों का नहीं किया जा सकता दुरुपयोग

आधार कानून में मजबूत गोपनीयता प्रावधान, आंकड़ों का नहीं किया जा सकता दुरुपयोग

नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कान्त ने कहा कि आधार कानून में गोपनीयता के मजबूत प्रावधान हैं और आंकड़ों का दुरुपयोग नहीं किया जा सकता है।

Dharmender Chaudhary | Apr 20, 2017 | 8:15 PM
आधार कानून में मजबूत गोपनीयता प्रावधान, आंकड़ों का नहीं किया जा सकता दुरुपयोग

नई दिल्ली। नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कान्त ने कहा कि आधार कानून में गोपनीयता के मजबूत प्रावधान हैं। उन्होंने इन आशंकाओं को खारिज किया कि इसमें आंकड़ों का दुरुपयोग किया जा सकता है। हीरो माइंडमाइन सम्मेलन में एक सवाल पर कान्त ने कहा कि आधार कानून में गोपनीयता के लिए मजबूत प्रावधान हैं। मैं आंकड़ों की गोपनीयता में विश्वास करता हूं। हालांकि, उन्होंने आगाह किया कि भारत को निश्चित रूप से भविष्य में गोपनीयता का ध्यान रखना होगा।

यह भी पढ़ें: 4G डाउनलोड स्‍पीड की रेस में मार्च में भी RJio रहा सबसे आगे, आइडिया दूसरे और एयरटेल तीसरे स्‍थान पर

कान्त होंने कहा, मेरा मानना है कि भविष्य में भारत को मजबूत गोपनीयता कानून की ओर बढ़ना होगा। उनका यह बयान भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण को आधार के लिए नागरिकों के नामांकन में सहयोग करने वाली एक एजेंसी द्वारा क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के व्यक्तिगत ब्योरे को साझा किए जाने की घटना के बाद आया है।

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया की नागरिकता पाना नहीं रहा आसान, कानून में बदलाव के बाद अब देनी पड़ेगी कड़ी परीक्षा

डिजिटल लेनदेन में बढ़ोतरी पर कान्त ने सुझाव दिया कि कुलीन वर्ग के भारतीयों को अपनी सोच बदलनी होगी। उन्होंने कहा, आंध्र प्रदेश के कृष्णा गोदावरी जिले और झारखंड के आदिवासी दिल्ली के लोगों की तुलना में अधिक तेजी से डिजिटल लेनदेन को अपना रहे हैं। नीति आयोग के सीईओ ने कहा कि भविष्य में आमने सामने की बैंकिंग की अवधारणा नहीं रहेगी। आंकड़ों के विश्लेषण के जरिए बैंक लोगों को कर्ज दे सकेंगे। हमारे पास एक अरब लोगों का बायोमीट्रिक्स है जो किसी अन्य देश में नहीं है।

Write a comment