1. Home
  2. News And Views
  3. News
  4. 2025 तक 25-30 लाख नौकरियों का सृजन करेगा आईटी सेक्टर, छंटनी का नहीं कोई डर

2025 तक 25-30 लाख नौकरियों का सृजन करेगा आईटी सेक्टर, छंटनी का नहीं कोई डर

रविशंकर प्रसाद ने भारत के आईटी उद्योग में किसी तरह की गिरावट को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि 2025 तक 25 से 30 लाख नौकरियों के अवसरों का सृजन होगा।

Dharmender Chaudhary | May 23, 2017 | 8:18 PM
2025 तक 25-30 लाख नौकरियों का सृजन करेगा आईटी सेक्टर, छंटनी का नहीं कोई डर

नई दिल्ली। विधि एवं आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भारत के सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग में किसी तरह की गिरावट को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि 2025 तक इस उद्योग में 25 से 30 लाख रोजगार के अवसरों का सृजन होगा। प्रसाद ने इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मंत्रालय की तीन साल की उपलब्धियों पर चर्चा करते हुए कहा, देश का आईटी मंत्री होने के नाते मैं इस क्षेत्र में नौकरियों में कटौती की किसी भी बात को खारिज करता हूं। यह क्षेत्र मजबूत है, आगे बढ़ने को तैयार है और एक बार डिजिटल अर्थव्यवस्था का चलन बढ़ने पर यह और तेजी से आगे बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि भारतीय आईटी क्षेत्र ने पिछले तीन साल में छह लाख नौकरियां दी हैं।

प्रसाद ने कहा, आईटी कंपनियों में 40 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और 1.3 करोड़ को अप्रत्यक्ष तरीके से रोजगार मिला हुआ है। हम छोटे शहरों में बीपीओ ला रहे हैं। यह काफी रोमांचक स्थिति है। उद्योग आगे बढ़ रहा है और नैस्कॉम का आकलन है कि इस क्षेत्र में अगले 4-5 साल में 20 से 25 लाख रोजगार के अवसरों का सृजन होगा।

नैस्कॉम इंडिया लीडरशिप फोरम में मैकिंजी एंड कंपनी की रिपोर्ट का विश्लेषण करते हुए हेड हंटर्स इंडिया के संस्थापक चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक के लक्ष्मीकान्त ने कहा था कि सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में अगले तीन साल तक सालाना आधार पर 1.75 से दो लाख नौकरियों की कटौती होगी। यह भी पढ़ें: अब रेमंड्स और पीटर इंग्‍लैंड जैसे बड़े ब्रांड बेचेंगे खादी की कपड़े, जल्‍द शुरू होगी नए स्‍टाइल के अपैरल्‍स की बिक्री

एच-बी वीजा अंकुश के बारे में प्रसाद ने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हाल की अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान इस मुद्दे पर अपनी चिंता से अवगत कराया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान वहां की सरकार के साथ यह मुद्दा उठाएंगे। यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री आवास योजना में सिर्फ दो लाख रुपए में बनेगा इस्पात का घर, देश में बढ़ेगी स्टील की खपत

Write a comment