1. Home
  2. इंश्‍योरेंस पॉलिसी के लिए जरूरी हुआ ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट, ये है अकाउंट खुलवाने का आसान तरीका

इंश्‍योरेंस पॉलिसी के लिए जरूरी हुआ ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट, ये है अकाउंट खुलवाने का आसान तरीका

पहली अक्‍टूबर 2016 से ज्‍यादातर नई इंश्‍योरेंस पॉलिसी इलेक्‍ट्रॉनिक रूप में जारी की जाएंगी, इसलिए अब जरूरी होगा ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट रखना।

Ankit Tyagi | Oct 2, 2016 | 10:25 AM
इंश्‍योरेंस पॉलिसी के लिए जरूरी हुआ ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट, ये है अकाउंट खुलवाने का आसान तरीका

Key Highlights

  • पहली अक्‍टूबर से ज्‍यादातर बीमा पॉलिसी के लिए अनिवार्य हुआ ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट
  • पुरानी इंश्‍योरेंस पॉलिसी का रिन्‍यूअल भी अब इलेक्‍ट्रॉनिक रूप में होगा
  • इंश्‍योरेंस पॉलिसी धारक के लिए जरूरी होगा इलेक्‍ट्रॉनिक इंश्‍योरेंस अकाउंट रखना

 

नई दिल्‍ली। भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) के ई-इंश्‍योरेंस नियमन 2016 के अनुसार, पहली अक्‍टूबर 2016 से ज्‍यादातर नई इंश्‍योरेंस पॉलिसी इलेक्‍ट्रॉनिक रूप में जारी की जाएंगी। पुरानी हेल्‍थ, लाइफ, मोटर, ट्रैवल इंश्‍योरेंस पॉलिसियाें का रिन्‍यूअल भी इलेक्‍ट्रॉनिक तरीके से किया जाएगा। इसलिए, एक इंश्‍योरेंस पॉलिसी धारक के लिए अब इलेक्‍ट्रॉनिक इंश्‍योरेंस अकाउंट रखना जरूरी होगा। र्इ-इंश्‍योरेंस जहां मोटर और ओवरसीज ट्रैवल इंश्‍योरेंस के लिए अनिवार्य हो गया है वहीं हेल्‍थ और लाइफ इंश्‍योरेंस के लिए इसका आधार पॉलिसी का सम एश्‍योर्ड या प्रीमियम की राशि होगी।

यह भी पढें : हेल्‍थ इंश्‍योरेंस खरीदते वक्‍त जान लें कितनी हैल्‍दी है आपकी पॉलिसी, इन 10 बातों का रखें ख्‍याल

इन जीवन बीमा पॉलिसियों के लिए खुलवाना होगा ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट

  • अगर टर्म इंश्‍योरेंस का सम एश्‍योर्ड 10 लाख रुपये से अधिक हो या पॉलिसी का प्रीमियम 10,000 रुपये से अधिक है।
  • यूलिप या एंडोमेंट पॉलिसी का सम एश्‍योर्ड एक लाख रुपये से अधिक हो या उसका सालाना प्रीमियम 10,000 रुपये से अधिक है।
  • पेंशन या एन्‍युइटी योजनाएं जिनके प्रीमियम 10,000 रुपये सालाना से अधिक है।

ऐसे खुलवाएं ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट

  • सबसे पहले इंश्योरेंस रिपॉजिटरी चुनें।
  • आप IRDAI की ओर से अधिकृत पांच रिपॉजिटरी में से किसी एक को चुन सकते हैं।
  • CAMS रिपॉजिटरी सर्विसेज, कार्वी इंश्योरेंस रिपॉजिटरी, सेंट्रल इंश्योरेंस रिपॉजिटरी, NSDL डेटाबेस मैनेजमेंट और SHCIL प्रॉजेक्ट्स – पांच रिपॉजिटरी हैं।
  • इसके बाद रिपॉजिटरी की वेबसाइट पर लॉग इन कर एप्लिकेशन फॉर्म भरें।
  • फॉर्म के साथ KYC डॉक्युमेंट्स अटैच करें और उन्हें ऑनलाइन जमा करें।
  • अकाउंट खोलने के लिए आधार कार्ड और परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) कार्ड जरूरी हैं।
  • इसके अलावा ऐड्रेस प्रूफ के लिए आधार लेटर, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस जैसे दूसरे दस्‍तावेज जमा कर सकते हैं।
  • इसके बाद रिपॉजिटरी आपके दस्‍तावेजों की जांच करेगी और इलेक्ट्रॉनिक अकाउंट खोलने के लिए अपने सिस्टम में डेटा दर्ज करेगी।

यह भी पढें : रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, अब मिलेगा मात्र 5 रुपए में 25 लाख रुपए का बीमा कवर

सात दिनों में खुल जाएगा ई-इंश्‍योरेंस अकाउंट

  • एप्लिकेशन फॉर्म जमा करने के सात दिनों के भीतर ई-इंश्योरेंस अकाउंट खुल जाएगा।
  • अकाउंट खुलने के बाद आपको लॉग इन आईडी और पासवर्ड के साथ एक वेलकम किट भेजी जाएगी।
  • अब आप रिपॉजिटरी की वेबसाइट पर लॉग इन कर अकाउंट का इस्तेमाल कर सकते हैं।
Write a comment